siteswebdirectory.comअनोखा मामला : अंतिम संस्कार के 2 दिन बाद, जब वही लड़की पहुंच गयी घर - Fadoo Post

अनोखा मामला : अंतिम संस्कार के 2 दिन बाद, जब वही लड़की पहुंच गयी घर !

कैसा होगा जब कोई इन्सान उसके अंतिम संस्कार के बाद अचानक घर पहुँच जाये . यह सुनने भले ही अजीब लग रहा हो पर ऐसा ही कुछ अनोखा मामला छत्तीसगढ़ के महासमुंद जिले में पुलिस के सामने आया है. पुलिस अब इस गुत्थी को सुलझाने में लगी हुई है.

दरअसल 19 मई की सुबह पुलिस को खबर मिली कि भालूचुंआ गांव के पास जंगल में एक युवती की लाश पड़ी है. मौके पर पहुंची पुलिस ने पाया कि युवती की उम्र 20 साल के आसपास थी और मृतका का चेहरा बुरी तरह से जला हुआ था. मौके से पुलिस को युवती की चप्पल और एक पानी की बोतल पड़ी हुई थी.

पुलिस ने आगे की कार्रवाई करते हुए पंचनाम भरकर लाश को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया. जांच में पुलिस ने युवती की पहचान तेंदूलोथा की रहने वाली समृद्धि पाठक के रूप में की.  इसके बाद परिजनों को बुलाया गया और उनकी शिनाख्ति के बाद पुलिस ने शव को सौंप दिया. परिजनों ने शनिवार को शव का अंतिम संस्कार भी कर दिया.

इधर जांच में भी पाया गया था कि समृद्धि एक महीने पहले से गायब थी उसके सोशल मीडिया में कई दोस्त थे. तफ्तीश कर रही क्राइम ब्रांच की टीम को सोशल साइट पर एक नंबर मिला था जिस पर समृद्धि ने अपने किसी दोस्त को फोन करने के लिए कहा था.
मीडिया में छपी रिपोर्ट के मुताबिक पुलिस जब इस नंबर के लोकेशन पर पहुंची तो सभी हैरान रह गए क्योंकि समृद्धि वहां मौजूद थी. पुलिस ने उसे तुरंत हिरासत में ले लिया और उसको परिजनों को लाकर सौंप दिया. पूछताछ में समृद्धि ने किसी की हत्या या उस बरामद से लाश की जानकारी होने से साफ इनकार कर दिया. इससे बाद से पुलिस के सामने बड़ी चुनौती खड़ी हो गई है कि जिस लाश का अंतिम संस्कार किया गया था वह किसकी थी.

खबर लिखे जाने तक पुलिस के पास उस लाश को लेकर कोई सुराग नहीं था. हालांकि पुलिस का दावा है कि जल्द ही मामले का खुलासा कर लिया जाएगा.

loading...
(Visited 68 times, 1 visits today)

Related posts:

यहाँ हुई अनोखी शादी, बारातियों को हेलमेट पहनाकर किया स्वागत
16 साल की इस भारतीय बेटी के नाम पर रखा ग्रह का नाम , पढ़ें
ये है 10 लाख का टीपू गधा , ख़ासियत जानकर दंग रह जाओगे
रेलवे का निजीकरण शुरू , भोपाल में होगा भारत का पहला निजी रेल स्टेशन
राम रहीम को कोर्ट ने सुनाई 10 साल की सज़ा ,
शिक्षक दिवस : पिता चाहते थे पुजारी बनाना पर बने देश के राष्ट्रपति , जाने रोचक तथ्य
ट्रेनिंग के लिए 3 लाख युवा जायेंगे जापान , पढ़ें
इन किताबों में छुपी है Dr. A.P.J Abdul Kalam की पूरी ज़िन्दगी

Rajdeep Raghuwanshi

नमस्ते , मैं एक प्रोफेशनल ब्लॉगर हूँ और मुझे एंटरटेनमेंट, लाइफस्टाइल और ह्यूमर पर लिखना पसंद है !

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Skip to toolbar