ओह्ह ! तेरी, भारत का 85 % पैसा सिर्फ अंबानी जैसे अमीरों का

सरकार देश की बढ़ती प्रति व्यक्ति आय के गुणगान करती रहती है। और आप भी भलीभांति जानते ही होंगे की प्रति व्यक्ति आय क्या चीज़ है। हाल ही में अंतरराष्ट्रीय मानवाधिकार संस्था ऑक्सफैम द्वारा एक रिपोर्ट जारी की गयी है। जिसे जानकर आप हैरान हो जायेंगे कि भारत के कुछ 85 प्रतिशत पैसे के मालिक तो सिर्फ 1 प्रतिशत अमीर ही हैं। ये चौकाने वाला अध्ययन देश में  बढ़ती आर्थिक असमानता की ओर संकेत करता है।

इसी के साथ दुनिया में शीर्ष एक प्रतिशत अमीरों के पास औसतन 50 प्रतिशत संपत्ति है। भारत के 57 अरबपतियों के पास 216 अरब डॉलर (करीब 14.72 लाख करोड़ रुपए) की संपत्ति है जो देश की करीब 70 प्रतिशत आबादी की कुल संपत्ति के बराबर है।

8 लोगों के पास है दुनिया की आधी आबादी के बराबर संपत्ति

वर्ल्ड इकोनॉमी फोरम (WEF) की सालाना बैठक से पहले जारी की गयी इस रिपोर्ट के अनुसार कुल आठ लोगों के पास दुनिया की आधी आबादी के बराबर संपत्ति है।

मुकेश अंबानी हैं देश के सबसे अमीर अरबपति

भारत के प्रमुख बिज़नस मैन

अध्ययन में कहा गया है कि, भारत में 84 अरबपति हैं जिनकी कुल संपत्ति 248 अरब डॉलर है। इनमें 19.3 अरब डॉलर की संपत्ति के साथ मुकेश अंबानी शीर्ष पर हैं। इसके बाद दिलीप सांघवी की संपत्ति 16.7 अरब डॉलर और अजीम प्रेमजी की संपत्ति 15 अरब डॉलर है। देश की कुल संपत्ति 3100 अरब डॉलर है।

इस वर्ष विश्व की कुल संपत्ति 2.56 लाख अरब डॉलर आंकी गई है और इसमें से करीब 6500 अरब डॉलर संपत्ति पर अरबपतियों का आधिपत्य है। इसमें 75 अरब डॉलर की संपत्ति के साथ बिल गेट्स शीर्ष पर हैं। इसके बाद 67 अरब डॉलर की संपत्ति वाले एमैनसियो ऑर्टेगा और 60.8 अरब डॉलर की संपत्ति वाले वारेन बफेट का नाम है।

ऑक्सफैम ने ‘99 प्रतिशत लोगों के लिए एक अर्थव्यवस्था’ शीषर्क से एक रिपोर्ट में यह सारे आंकड़े पेश किए हैं।

loading...

Rajdeep Raghuwanshi

नमस्ते , मैं एक प्रोफेशनल ब्लॉगर हूँ और मुझे एंटरटेनमेंट, लाइफस्टाइल और ह्यूमर पर लिखना पसंद है !

Skip to toolbar