25% अमेरिकी लोगों ने इस आसान सवाल का जवाब दिया गलत

दुनिया में सबसे ताकतवर और तरक्की वाले देशों में अमेरिका सबसे आगे माना जाता है. अमेरिका ने चाँद पर पहला कदम रखने के साथ-साथ अन्तरिक्ष में कई इतिहास रचे है. अमेरिका के एजुकेशन सिस्टम को दुनियाभर में फॉलो किया जाता है, वहां की यूनिवर्सिटीज में कई देशों के लोग पढ़ने के लिए जाते हैं. लेकिन वहां लोगों की ऐसी अज्ञानता देखकर आश्चर्य होता हैं. क्योकिं 25% अमेरिकी लोगों ने इस आसान सवाल का जवाब दिया गलत … 25% अमेरिकी लोगों ने इस आसान सवाल

ये था मामला :
Image Source : ous.wisc.edu

दरअसल 2012 में अमेरिका के नेशनल साइंस फाउंडेशन ने एक सर्वे किया था, जिसमें 2,200 अमेरिकियों से कई तरह के सवाल किए गए थे. जिसका जवाब उन्हें सही या गलत देना था. सवाल कुछ इस तरह थे जैसे ” ब्रह्मांड की उत्पत्ति एक महाविस्फाट से हुई है- सही या गलत?, इंसान अन्य जीवों से विकसित हुआ है- सही या गलत?, इस सर्वे में एक प्रश्न ये भी था कि क्या सूर्य पृथ्वी के चक्कर लगाता है. जिसका जवाब एक -चौथाई अमेरिकियों ने सही बताया. इस सर्वे का रिजल्ट 2017 में जारी किया गया.

ये था इस प्रश्न का सही जवाब :
Image Source : mydrivers.com

स्कूलों में भी यह बात पढ़ाई जाती है कि पृथ्वी सूर्य के चक्कर लगाती है और वह अपनी धुरी पर भी घूमती है, जिसकी वजह से दिन और रात होते हैं.  और शायद कम शिक्षित लोग भी ऐसा ही मानते हैं, क्योंकि इसके पक्ष में ढेरों प्रमाण हैं. लेकिन अमेरिका जैसे विकसित और शिक्षित देश में ऐसा नहीं है अमेरिका के नेशनल साइंस फाउंडेशन के एक सर्वे के अनुसार वहां के एक-चौथाई लोग, यानी 25 प्रतिशत अमेरिकी इसका उल्टा मानते हैं. वो मानते हैं कि यूनिवर्स के बीच में पृथ्वी है और सूर्य पृथ्वी के चक्कर लगाता है.

ये हैं इस प्रश्न के कुछ प्रमाण :
Image Source : pinimg.com
सबसे पहला प्रमाण टॉलमी ने दिया था जिसके अनुसार यूनिवर्स के सेंटर में पृथ्वी है और सूर्य समेत सारे ग्रह पृथ्वी का चक्कर लगाते हैं, लेकिन गैलीलियो ने टेलीस्कोप से शुक्र ग्रह को देखा, और बताया कि पृथ्वी यूनिवर्स के सेंटर में नहीं है. 16वीं सदी में कॉपरनिकस ने बताया कि सूर्य यूनिवर्स के सेंटर में है और पृथ्वी समेत सारे ग्रह उसके चक्कर लगाते रहते हैं. कॉपरनिकस के इस सिध्दांत को तुरंत नहीं माना गया, लेकिन 18वीं सदी तक इस सिध्दांत को दुनियाभर में मान लिया. अब तो अत्याधुनिक उपकरणों के समय में इस पर कोई संदेह ही नहीं हैं कि पृथ्वी सूर्य के चक्कर लगाती है. 25% अमेरिकी लोगों ने इस आसान सवाल
अमेरिकियों ने कई बार दिए गलत जवाब :
25% अमेरिकी लोगों ने इस आसान सवाल
Image Source : prospect.org
जीवों के विकास, यानी रिवॉल्युशन को लेकर भी अमेरिकियों ने कई बार गलत जवाब दिए. आज भी बहुत सारे अमेरिकी मानते हैं कि जैव विकास नहीं हुआ है. इंसान आज जैसा दिखता है, वह हमेशा से ही ऐसा था और रहेगा. अमेरिका में फ्लैट अर्थ सोसायटी भी है, जिसके सदस्य मानते हैं कि धरती गोल नहीं चपटी है. वे इसके लिए अपनी राय भी देते हैं.
loading...

Brajendra Sharma

नमस्ते, मैं एक हिन्दी ब्लॉगर हूँ और मुझे देशी-विदेशी, करियर, से जुड़ी स्टोरीज लिखना अच्छा लगता हैं एवं मुझे ऐसी स्टोरीज लिखना भी पसंद है जो आपको अच्छी लगें. इसलिए आप मुझें comment करके बता सकते हैं.

Skip to toolbar