इस महिला ने 60 की उम्र में सिखा कंप्यूटर, और अब 81 की उम्र ने बना डाला iphone App

कहते हैं न कि प्रतिभा किसी की भी  मोहताज़ नहीं होती ये तो किसी भी इंसान के अन्दर और कभी भी उभर के दुनिया के सामने आ आती है और ये भी सच है कि सीखने की कोई उम्र नहीं होती, इस महिला ने यह कहावत सच कर दी है। जापान की 81 वर्षीय महिला ने एक आइफोन एप बना डाला है। कमाल की बात तो यह है कि इस महिला ने 60 साल की उम्र में कंप्यूटर चलाना सीखा था। इस महिला ने 43 वर्षों तक जापानी बैंक को अपनी सेवाएं दी।

पूर्व बैंकर मसाको वाकामिया ने 60 साल की उम्र में कंप्यूटर चलाना सीखा। वो कहती हैं कि उनके इस फैसले ने उनकी जिंदगी ही बदल दी। इंटरनेट की जादुई दुनिया का हिस्सा बनी मसाको ने हाल ही वृद्ध लोगों के लिए एप बनाकर सुर्खियां बटोरी हैं। इस एप में जापान की पारंपरिक गुडिय़ा को राख्ने का सही तरीका बताया जाता है।

**** ये भी पढ़ें ****

सिर्फ़ आठ साल ही है ये बच्ची , पर हर महीने कमाती है 76 लाख 20 हज़ार रूपये ….

इस देश में है दुनिया के सबसे ज्यादा 12 टाइम ज़ोन्स……..

इस शख्स ने साइकिल को सजाने में ख़र्च किये 1 लाख रूपये …

****************

उन्होंने कहा कि मैंने ध्यान दिया कि स्मार्टफोंस की ज्यादातर एप्स युवाओं को ध्यान में रखते हुए बनाई जाती हैं। वृद्ध लोगों के लिए बहुत कम एप्स होती हैं। मैं चाहती हूं कि मेरे ही जैसे दुनिया के तमाम बूढ़े लोग कंप्यूटर और तकनीक की दुनिया समझें और मॉर्डन युग के साथ कदम से कदम मिलाकर चलें। अपनी एप के साथ साथ मसाको एक ओल्डेज क्लब भी चलाती हैंं। उनका खुद का ब्लॉग भी है।

loading...
(Visited 64 times, 1 visits today)

Related posts:

रातों रात गायब हो गया था शहर, पर अब हजारों साल बाद मिला
omg! 8 साल के बच्चे ने की 61 साल की दादी से शादी जिसके हैं 5 बच्चें
फेसबुक पर किया कमेंट तो मिली मौत की सज़ा , पाकिस्तान की अदालत का फ़ैसला
25% अमेरिकी लोगों ने इस आसान सवाल का जवाब दिया गलत
फिल्म 'ठग्स ऑफ हिंदुस्तान' की शूटिंग के दौरान घायल हुए बिग वी
समुद्री दुनिया के वो पांच अजूबे , जिनसे आप अनजान
ऐसे बाबा जिन्होंने लोगों की आस्था का किया बलात्कार
अमेरिका में पाक का बैंक हुआ बैन, इतने का लगा जुर्माना

Rajdeep Raghuwanshi

नमस्ते , मैं एक प्रोफेशनल ब्लॉगर हूँ और मुझे एंटरटेनमेंट, लाइफस्टाइल और ह्यूमर पर लिखना पसंद है !

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Skip to toolbar