शराब पीने के बाद क्यों हो जाता है दूसरी भाषा का ज्ञान

अक्सर देखा जाता है कि शराब पीने के बाद लोग अजीबोगरीब हरकत देने लगते हैं वहीँ किसी और भाषा में ज्यादा बात करते हैं. वैसे शराब की मात्र ज्यादा हो तो सिर्फ नुकसान ही होता है लेकिन अगर सही मात्रा में लिया जाए तो यह थोडा फायदेमंद भी होती है. एक रिसर्च के मुताबिक थोड़ी सी शराब पीने से नई भाषा बोलने की संभावनाएं बढ़ जाती है. सायकोफ़र्माकोलॉजी जर्नल में पब्लिश हुई इस रिसर्च में रिसर्चर्स ने 50 स्टूडेंट्स का इस्तेमाल किया गया.

source: healthasure

यह सभी कॉलेज स्टूडेंट्स हैं, हॉलैंड यूनिवर्सिटी के स्टूडेंट्स ने हाल ही में डच भाषा को लिखना एवं पढना सीखा है. इन 50 स्टूडेंट्स में कुछ को शराब का सेवन कराया गया और कुछ को नार्मल पानी पिलाया गया. रिसर्च के दौरान इन स्टूडेंट्स को एक शख्स से डच में बात करनी थी. इसके लिए 2 वॉलंटियर्स भी रखें गये जो डच भाषा अच्छे से जानते थे. लेकिन उन्हें यह नहीं बताया गया कि किस स्टूडेंट ने शराब पी है और किसने नहीं.

यह भी पढ़ें: 

वॉलंटियर्स को सभी से बातचीत के बाद हर स्टूडेंट्स की रेटिंग देनी थी. जिन लोगों ने पानी पीने के बाद बातचीत की उन्हें अपनी परफॉर्मेंस में कोई फर्क नहीं आया. लेकिन वॉलंटियर्स की मानें तो शराब पीने वालों की उच्चारण और फ्लुएंसी के मामले में पानी पीने वाले स्टूडेंट्स से कई बेहतर थे. शराब पीने वाले स्टूडेंट्स ने बिलकुल सही जवाब भी दिए.

alcohol
source: dailyhunt

रिसर्च से जुड़े लोगों का ये भी मानना था कि इस रिसर्च को दूसरी भाषाओं में भी देखना चाहिए ताकि इससे जुड़े असर को देखा जा सके. इसके बावजूद रिसर्चर्स का मानना है कि शराब पीने के बाद व्यक्ति किसी भी नई भाषा को फर्राटेदार तरीके से बोल सकता है.

loading...
Skip to toolbar