siteswebdirectory.comथायराइड की समस्या में पाए आयुर्वेद से उपचार - फाडू पोस्ट

थायराइड की समस्या में पाए आयुर्वेद से उपचार

थायराइड मानव शारीर की प्रमुख एंडोक्राइन ग्लैंड है. जो गले के अगले हिस्से में होती है। यह ग्रंथि हार्मोन निर्माण का कार्य करती है और मेटाबोलिज्म को नियंत्रित करती है।

इस ग्रंथि के सही ढंग से कार्य करने से शरीर का मेटाबोलिज्म यानि भोजन को उर्जा में बदलने की प्रकिया भी सुचारू रूप से कार्य कर रही है।

पर जैसे ही यह ग्रंथि घटनी या बढ़नी शुरू होती है तो स्वास्थ्य सम्बन्धी परेशानियाँ शुरू हो जाती है।

इस ग्रंथि का असर ह्रदय, मांसपेशियों, हड्डियों और कोलेस्ट्रोल के स्टार पर भी पड़ता है।

नींद से जुड़ी कुछ रोचक बातें, जिन्हें जानकर हो जायेंगे हैरान

इसकी वजह से भूख ज्यादा लगना, धड़कन बढ़ जाना, अनिद्रा की समस्या, रोग प्रतिरोधक क्षमता पर असर, पैरो मे सूजन या ऐठन आना जैसी समस्याएं सामने आने लगती है।

आयुर्वेद उपचार

स्लाइड देखें

[masterslider id=”27"]

थाइरोइड की समस्या 20 से 30% पुरुषों में तो 60 से 70% महिलाओं मे होती है। थाइरोइड हॉर्मोन मे असंतुलन होने का कोई निश्चित कारण नही है लेकिन फिर भी कुछ बातें इस प्रभावित करती हैं।

अगर नहीं चाहते जल्दी बूढा होना, तो रोज करें कसरत

प्रेगनेंसी में प्रॉब्लम, लाइफस्टाइल मे बढ़ता स्ट्रेस, वजन बढना, आनुवंशिकता आदि में से कोई भी कारण हो सकता है।

 

loading...
(Visited 33 times, 1 visits today)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Skip to toolbar