siteswebdirectory.comबेगम अख्तर की याद में गूगल ने बनाया डूडल, जानें उनके बारे में .... - Fadoo Post

बेगम अख्तर की याद में गूगल ने बनाया डूडल, जानें उनके बारे में

गुजरे जमाने की मशहूर गायिका बेगम अख्तर का जन्म 7 अक्टूबर 1914 को हुआ था. गज़ल गायकी को पसंद करने वाले बेगम अख्तर के गानों से अच्छी तरह वाकिफ हैं. आज हम आपको दादरा, ठुमरी व गजल में अपना नाम इतिहास के पन्नों में दर्ज करने वाली बेगम अख्तर के बारे में बताने वाले हैं.

‘मल्लिका-ए-गजल’ कहलाने वाली बेगम अख्तर का आज (7 अक्टूबर ) 103वां जन्‍मदिन है. बेगम अख्तर के बचपन का नाम बिब्‍बी था, जो फैजाबाद के शादीशुदा वकील असगर हुसैन और तवायफ मुश्तरीबाई की बेटी थीं. मुश्तरीबाई को जुड़वा बेटियां पैदा हुई थीं. चार साल की उम्र में दोनों बहनों ने जहरीली मिठाई खा ली थी, इसमें बिब्बी तो बच गईं लेकिन उनकी बहन का देहांत हो गया था.

बेगम अख्तर ने सात साल की उम्र से गाना शुरू कर दिया और 13 साल की उम्र में बिब्बी, अख्तरी बाई हो गई थीं. 15 साल की उम्र में अख्तरी बाई फैजाबादी के नाम से पहली बार मंच पर उतरीं. उन्होंने रोटी फिल्म में एक्टिंग भी की. इस फिल्म के निर्माता महबूब खान थे. यह फिल्म उन्होंने साल 1942 में बनाई थी. उन्होंने 400 गीतों को अपनी आवाज दी.

बेगम अख्तर को संगीत नाटक अकादमी पुरस्कार, पद्मश्री और पद्मभूषण से सम्मानित किया गया था. 30 अक्टूबर, 1974 को बेगम साहिबा का शरीर दुनिया को अलविदा कह गया. उनके निधन के बाद पार्थिव शरीर उनकी वसीयत के मुताबिक ठाकुरगंज के पास पसंदबाग में अपनी मां के पास ही दफन किया गया.

‘मलिका-ए-गजल’ के नाम से प्रसिद्ध बेगम अख्तर की 103वीं जयंती पर जहां कई गजल प्रेमी उन्‍हें याद कर रहे हैं तो वहीं गूगल ने भी उनके जन्‍मदिन पर एक विशेष डूडल बनाकर भावपूर्ण श्रद्धांजलि दी है. इस डूडल में बेगम अख्तर सितार बजाती दिख रही हैं और उनके कुछ प्रशंसक भी उनके पास बैठे नजर आ रहे हैं.

loading...
(Visited 20 times, 1 visits today)

Related posts:

ये पुलिस वाला हैं रीयल लाइफ में सिंघम के साथ - साथ mr. india
भारत के ऐसे सात शिक्षक जिन्होंने पढ़ाने के लिए सबकुछ दांव पर लगा दिया
बसपा नेता दीपक की हत्या का मुख्य आरोपी बाबा प्रतिभानंद गिरफ्तार
जमीन में गढ़ रहे किसान, साथ दे रही महिलाएं
Dr. A.P.J. Abdul Kalam की हर बात आपके करियर के लिए हो सकती है औषधि
कानपुर में मिले I Love Pakistan लिखे गुब्बारे
तुलसी विवाह से सम्बन्धित कुछ महत्वपूर्ण बातें ...
भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता टीवी शो में नहीं गा सके ‘वंदे मातरम्’

Brajendra Sharma

नमस्ते, मैं एक हिन्दी ब्लॉगर हूँ और मुझे देशी-विदेशी, करियर, से जुड़ी स्टोरीज लिखना अच्छा लगता हैं एवं मुझे ऐसी स्टोरीज लिखना भी पसंद है जो आपको अच्छी लगें. इसलिए आप मुझें comment करके बता सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Skip to toolbar