यहाँ 5 साल के बच्चो के लिए सेक्स एजुकेशन पर बुक

स्कूल लाइफ से ही बच्चों को सेक्स एजुकेशन दी जानी चाहिए इस मुद्दे पर पहले भी काफी चर्चाएँ हो चुकी हैं. लेकिन जर्मनी के एक स्कूल में जब 5 साल के विद्यार्थियों के लिए सेक्स एजुकेशन पर किताब दी गयी तो पेरेंट्स ने हंगामा मचा दिया. इस किताब में ग्राफ़िक्स के ज़रिये कुछ ज्यादा ही स्पष्ट तरीके से व्याख्या की गयी है.

source: pinterest

जानकारी होने पर अभिभावकों ने नाराजगी जताई और बर्लिन सीनेट में इस मामले को लेकर शिकायत की. विद्यार्थियों को ‘वेयर डू यू कम फ्रॉम?’ नाम की किताब दी गई थी, जिसमें लीजा और लार्स नाम के पात्र होते हैं. वे इसमें ग्राफिक इमेज (कार्टून) के रूप में बने होते हैं और किताब में उनके बीच शारीरिक संबंध बनाते दिखाया गया है. इस किताब में कंडोम और ओर्गास्म जैसी बातों को ग्राफ़िक्स से ज्यादा स्पष्ट बताया है. अभिभावकों की शिकायत पर अभी तक स्कूल की ओर से कोई जवाब नहीं आया है.

यह भी पढ़ें: 

अविभावकों को न सिर्फ किताब में दिखाए गए ग्राफ़िक्स से ऐतराज़ है बल्कि वे इतनी ज्यादा स्पष्टता से हैरान भी हैं. बताया जा रहा है कि किताब अभी भी स्कूल में ही हैं और ज्यादा लोगों ने इसे पढ़ा नहीं है. बवारिया में क्रिस्चियन सोशल यूनिय पार्टी के नेता डोरॉथी बेयर ने इस पर कहा है कि “बच्चों के विकास में सेक्स एजुकेशन का साथ होना चाहिए. लेकिन उसका काम उसे कुछ ज्यादा ही तेज करना नहीं होता है.

loading...
Skip to toolbar