ब्रायन लारा ने खोली वेस्ट इंडीज की पोल

पूर्व स्टार क्रिकेटर और वेस्ट इंडीज के पूर्व कप्तान रहें ब्रायन लारा ने वेस्ट इंडीज ने कहा है की 90 के दशक में टीम ने हर बार सही भावना से खेल नहीं खेला है. यह बात उन्होंने लॉड्स में एमसीसी स्प्रिट ऑफ क्रिकेट लेक्चर में कही.

यह भी पढ़ें: पोलार्ड को सोशल मीडिया पर क्यों सुनना पड़ रहीं हैं खरी-खोटी

लारा का मानना है कि 1980 और 1990 में वेस्ट इंडीज के बेहतरीन रिकॉर्ड के बाद भी कई ऐसे मौके थे जब टीम ने अपनी रणनीतियों को लागू किया पर उसके परिणाम कुछ खास नहीं हुए. लारा ने 1989 में न्यूज़ीलैंड के खिलाफ खेली गई सीरीज का उदाहरण देते हुए कहा कि जब कोलिन क्रॉफ्ट से बहस के बाद माइकल होल्डिंग ने अंपायर को कंधा मारा था.

ब्रायन लारा
source: Fadoopost.com

ब्रायन ने यह भी कहा कि जब वह पैदा हुए थे तब वेस्ट इंडीज का क्रिकेट के क्षेत्र में दबदबा था. 80 के दशक से 15 सालों तक टीम कभी भी टेस्ट मैच नहीं हारी थी.

यह भी पढ़ें: अब आईपीएल सोनी नहीं स्टार दिखायेगा

लारा ने यह बाते इसलिए कहीं ताकि शीर्ष टीमों में खेल की अखंडता बनी रहे. जब भी खेल के लिए मैदान पर उतरे तो खेल भावना बनी रहनी चाहिए.

loading...
(Visited 26 times, 1 visits today)

Related posts:

आर.अश्विन ने धोनी की तुलना इस शख्स से कर डाली, जाने
ये 10 ख़िलाड़ी हैं आईपीएल 2017 के Emerging Heroes
इन बल्लेबाजों ने वनडे में नहीं लगाया एक भी छक्का
विराट ने ठुकराया सॉफ्ट ड्रिंक के विज्ञापन का ऑफर
शिखर धवन नहीं खेलेंगे ऑस्ट्रेलिया से मैच, जाने क्या है वजह
पाकिस्तान को मिला बोलिंग का अफरीदी
क्रिकेट बॉल ने ली 17 साल के लड़के की जान
ऑस्ट्रेलिया के 32 वर्षीय बल्‍लेबाज ने तोड़ा 33 साल पुराना रिकॉर्ड

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Skip to toolbar