यहाँ होती है जादूगर और चुड़ैलों की पढाई, जाने इस कॉलेज के बारे में….

अभी तक आपने सिर्फ फ़िल्मों में ही मैजिक स्कूल के बारे में देखा होगा. और हॉलीवुड फ़िल्म हैरी पॉटर भी देखी होगी.अगर आप से कहा जाये की एक ऐसा भी स्कूल या कॉलेज है, जहाँ सच में जादूगर और चुड़ैल बनने की पढाई होती है. अगर अपने सिर्फ फिल्मों में ही जादू सिखने स्कूल के बारे में सुना है, तो चलिए आज हम आपको बतातें हैं एक ऐसे कॉलेज के बारे में जहाँ सच में जादूगर और चुड़ैल बनने की पढाई होती है.

दरअसल , हम बात कर रहे हैं पोलैंड के  “कॉलेज ऑफ विजर्ड्री” के बारे में जहाँ लोगों को जादूगर या चुड़ैल बनने की ट्रेनिंग दी जाती है. यह कॉलेज 2014 से चल रहा है.

जादूगर
image source

कॉलेज में कोर्स के दौरान वे जादू की छड़ी से वे खुद को स्कूली बच्चों में बदल लेते हैं जो पूरी ताकत के साथ शैतानों के खिलाफ संघर्ष करते हैं. तीन दिन तक वे एक लाइव रोल प्ले के दौरान जादू का हुनर सीखते हैं. और इस आयोजन को देखने के लिए दुनिया भर से फैंटेसी के प्रेमी यहां पहुंचते हैं.

यहाँ जादूगरी के पांच कोर्स होते हैं

इस कॉलेज में छात्र पांच कोर्सों में से एक कोर्स चुन सकते हैं. मैजिशियन और चुड़ैल का पेशा सीखने के अलावा यहां हीलर और ओझा बनने की भी ट्रेनिंग दी जाती है. यहां छात्रों को खास गणित भी सिखाया जाता है ताकि वे आंकड़ों की मदद से भविष्यवाणी करने की कला सीख सकें.

जादूगर
symbolic image

प्रोफेसर सिमोन बोरुता की अलकेमी की क्लास हमेशा भरी होती है. यहां मैजिक के छात्र रसायनों को जादुगरी के साथ जोड़ना सीखते हैं. ये एक मैजिकल मिक्सचर है. प्रोफेसर सिमोन बोरुता बताते हैं, “अलकेमी बहुत ही महत्वपूर्ण है, विभिन्न तरह के जादुई ड्रिंक बनाने के लिए. उसमें लव ड्रिंक भी शामिल है या ड्रिंक जो मूड बदलते हों, या किसी चीज से सुरक्षा करते हों. इरादा अच्छा भी हो सकता है और बुरा भी. हम किसी को अच्छा या बुरा महसूस करा सकते हैं. अलकेमी भावनाओं के साथ जुड़ा है.”

जादुगरी के छात्रों के लिए भी अपना होमवर्क जादू से करना मुमकिन नहीं. एकमात्र रास्ता होता है, सीखने के लिए मेहनत करना. करत करत अभ्यास से जड़मति होत सुजान. जादुगरी के लिए भी अभ्यास की जरूरत होती है. हर छात्र को एक किताब मिलती है, जो एक तरह से जादुगरी का बाइबल है. इस किताब जैसी चीजें कॉलेज ऑफ विजार्ड्री का अहम हिस्सा हैं. ये छात्र जादुगरी कॉलेज के दिनों को लंबे समय तक नहीं भूलेंगे.

source : dw.com

loading...
(Visited 265 times, 1 visits today)

Related posts:

Rajdeep Raghuwanshi

नमस्ते , मैं एक प्रोफेशनल ब्लॉगर हूँ और मुझे एंटरटेनमेंट, लाइफस्टाइल और ह्यूमर पर लिखना पसंद है !

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Skip to toolbar