ऐसे करें दीपावली पर महालक्ष्मी का पूजन

रोशनी और प्रकाश के इस त्यौहार का सभी को इंतजार रहता हैं. दीपावली के दिन महालक्ष्मी जी की विशेष पूजन की जाती है, जिससे घर में कभी धन और ऐश्वर्य की कमी नहीं होती. आज हम आपको बताने वाले हैं दीपावली पर महालक्ष्मी की पूजा के लिए आवश्यक पूजा सामग्री और पूजन विधि.

पूजा सामग्री

दीपावली के दिन माँ लक्ष्मी की पूजा के लिए पूजा सामग्री में आवश्यक रूप से कलावा, अक्षत, लाल वस्त्र, फूल-दूर्वा, ऋतूफल, पांच सुपारी, रोली, सिंदूर, एक नारियल, लौंग, पान के पत्ते, घी, कलश के लिए आम के पत्ते या पान, चौकी, समिधा, हवन कुण्ड, हवन सामग्री, कमल गट्टे, पंचामृत (दूध, दही, घी, शहद, गंगाजल), बताशे, मिठाईयां, पूजा में बैठने हेतु आसन, हल्दी , अगरबत्ती, कुमकुम, इत्र, दीपक, रूई, आरती की थाली आदि सामग्री का इस्तेमाल पूजन में करें.

पूजा की विधि

लक्ष्मी पूजन शुरू करने से पहले चौकी के ऊपर खूबसूरत सी रंगोली बनाएं, इसके बाद इस चौकी के चारों तरफ दीपक जलाएं और चौकी पर लक्ष्मी व गणेश की मूर्तियां का मुख पूर्व या पश्चिम में करके रखें. मूर्तियों के पास नवग्रह व षोडश मातृका के बीच स्वस्तिक का चिह्न बनाएं. मां लक्ष्मी को प्रसन्‍न करने के लिए उनके बाईं ओर भगवान विष्‍णु की प्रतिमा को भी स्‍थापित करें, आपको बता दें कि प्रतिमा स्‍थापित करने से पहले थोड़े से चावल रख लें. अगर आप किसी पंडित को बुलाकर पूजन करवा सकते हैं तो यह बहुत अच्छा रहेगा. लेकिन आप अगर खुद मां लक्ष्मी का पूजन करना चाहते हैं तो सबसे पहले पुष्प, फल, सुपारी, पान, चांदी का सिक्का, नारियल, मिठाई, मेवा, सभी सामग्री थोड़ी-थोड़ी मात्रा में लेकर सबसे पहले भगवान गणेश की पूजा करें और इसके बाद कलश की स्‍थापना करें और मां लक्ष्मी का ध्यान करें, कलश को लक्ष्मीजी के पास चावलों पर रखें और पूजन करें. मां लक्ष्मी को इस दिन लाल वस्‍त्र जरूर पहनाएं. इससे लक्ष्मी आप पर प्रसन्न होंगी और इस दीवाली आपके घर में भी खुशियों का बसेरा होगा.

loading...
(Visited 44 times, 1 visits today)

Related posts:

ये पुलिस वाला हैं रीयल लाइफ में सिंघम के साथ - साथ mr. india
ये 6 साल का मास्टर शेफ़ कमाता हर महीने 1 लाख रूपये
हनीप्रीत इस एक्टर के साथ और राम रहीम हॉलीवुड में ...
केंद्रीय कर्मचारियों की अब न्यूनतम सैलरी बढ़कर होगी इतनी
जमीन में गढ़ रहे किसान, साथ दे रही महिलाएं
वीरता और शौर्यता की निशनी हैं भारतीय सेना के वचन, पढ़ें
बेटी पढ़ाओ और 2 हजार रुपये पाओ
ऐसे गाँव जिन्होंने बहुत पहले ले लिया पटाखे न चलाने का फैसला

Brajendra Sharma

नमस्ते, मैं एक हिन्दी ब्लॉगर हूँ और मुझे देशी-विदेशी, करियर, से जुड़ी स्टोरीज लिखना अच्छा लगता हैं एवं मुझे ऐसी स्टोरीज लिखना भी पसंद है जो आपको अच्छी लगें. इसलिए आप मुझें comment करके बता सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Skip to toolbar