यहाँ जिंदा मछली को मुंह में डालकर किया जाता आनोखा उपचार , जाने

नाक बंद की, मुंह खोला, जीभ बाहर निकाली और मछली को निगल लिया सुनाने में बहुत घिनौना और अजीब लग रहा होगा पर यह एक उपचार पद्धति है जो कि आंध्रप्रदेश में फ़िश मेडिसिन फ़ेस्टिवल में दी जाती है . इस पद्धति को लोगों की लाइलाज़ बीमारी से छुटकारा दीवाने वाला टोटका भी है कहा जा सकता है और एक औषधिक उपचार भी.

दरअसल हम बात कर रहे हैं हैदराबाद के नामपल्‍ली इलाके की जहाँ हर साल 5,000 से अधिक लोग इस विशेष इलाज के लिए पहुंचते हैं.

अस्थमा के रोगियों के लिए विशेष है यह उपचार

जून महीने में अस्थमा के मरीज यहां मछली वाला इलाज कराने पहुंचते हैं. छोटी सी मछली के अंदर पीला आयुर्वेदिक पेस्ट भरा होता है.  माना जाता है कि इससे सांस लेने में आसानी होती है.  करीब पांच सेंटीमीटर (दो इंच) लंबाई वाली मुरेल मछली को मरीजों के गले में डाला जाता है. यह अजीब सा लगने वाला इलाज कई दशकों से प्रचलित है.

नामपल्‍ली इलाके का बैथिनी गौड़ परिवार इस उपचार का कर्ता धर्ता है 

इस उपचार  का कर्ता धर्ता है, बैथिनी गौड़ परिवार है इनका कहना है कि मछली गला साफ कर देती है और अस्थमा समेत सभी श्वसन संबंधी रोगों का स्थायी रूप से इलाज हो जाता है.  बैथिनी परिवार मछली वाले इलाज का फॉर्मूला गुप्त रखना चाहता है. उनका कहना है कि यह इलाज उन्हें एक हिंदू साधू से सन 1845 में पता चला था.

अक्सर जब छोटे बच्चों को यह दवा दी जाती है तो माता पिता उनका मुंह खोलते दिखते हैं. जिंदा मछली को मुंह में लेने के विचार से ही कई बच्चे रोने लगते हैं.

मुफ्त में दिया जाता है उपचार 

यह उपचार मुफ्त में होता है. इसे केवल साल में दो ही दिन जून के महीने में दिया जाता है. तारीख हर साल मानसून की शुरुआत की तिथि के हिसाब से तय होती है. कई अधिकार समूह और डॉक्टर हैदराबाद के इस तथाकथित ‘मछली प्रसादम’ को अवैज्ञानिक और अस्वच्छ मानते हैं. लेकिन बैथिनी परिवार इन आरोपों को गलत बताता है.

भारत सरकार  इस अवसर पर चलती है विशेष ट्रेन 

भारत सरकार इस अवसर पर विशेष ट्रेन चलाती है, जिससे ज्यादा से ज्यादा मरीज “फिश मेडिसिन” फेस्टिवल में पहुंच सकें. अतिरिक्त पुलिस बल की भी तैनाती होती है.

इस मछली को पचाने के बाद मरीजों को अगले 45 दिन तक एक तय कार्यक्रम के हिसाब से ही अपने खानपान का ध्यान रखना होता है. तब जाकर इलाज पूरा होता है.

loading...

Rajdeep Raghuwanshi

नमस्ते , मैं एक प्रोफेशनल ब्लॉगर हूँ और मुझे एंटरटेनमेंट, लाइफस्टाइल और ह्यूमर पर लिखना पसंद है !

Skip to toolbar