अगर फिल्मे देखकर रोते हैं तो ये गुण हैं आपमें

अगर फिल्मे देखकर रोते हैं तो ये गुण हैं आपमें

अगर फिल्म देखते समय आप भी अपने साथ रुमाल लेकर बैठते हैं कि कही किसी सीन की वजह से आपके आंसू ना टपक जाए तो इसका मतलब है कि आप बहुत भावनात्मक हैं

यदि कोई भावनात्मक द्रश्य आपके आंसू गिरने पर मजबूर कर दे तो इस बात पर विश्वास कीजिये आप अन्दर से काफी मजबूत हैं, कुछ लोग ऐसे होते हैं जो भावनात्मक द्रश्यों पर भी काफी सहज बने रहते हैं

यह सारी क्रियाएं आपके हार्मोन्स के स्तर पर निर्भर करती है, अकेले फिल्म देखते समय कुछ लोगों के साथ ऐसा होता है.

अगर आपके साथ भी ऐसा होता है तो इन गुणों के धनी हैं आप

सहानुभूति का गुण

जो लोग भावनात्मक द्रश्यों पर रोने लगते हैं उनके अन्दर सहानुभूति का गुण होता है. इंसान के अन्दर यह गुण तभी हो सकता है जब वह कुछ खास हो. अधिकतर लोगो में यह गुण नहीं होता है उन्हें नहीं पता होता है कि दूसरो के दर्द को कैसे समझा जाए. जब आप दूसरो को समझने का प्रयास करते है तो अन्दर से मजबूत बन जाते हैं.

****यह भी पढ़े****

विलेन्स के बगैर ये बॉलीवुड फ़िल्में बोक्सऑफिस पर रहीं सुपरहिट

समुद्र के ऊपर घर बनाकर रहते हैं यहाँ के लोग

****

अगर फिल्मे देखकर रोते हैं तो ये गुण हैं आपमें

रोना नहीं है कमजोरी

फिल्म देखते समय उसके चरित्र से आपकी पुरानी यादों का सम्बन्ध जुड़ जाता है जिससे यह फिल्म देखते समय रोने का कारन बन सकता है. कई बार फिल्म में किसी चरित्र को इतनी ख़ूबसूरती के साथ पेश किया जाता है कि उसे देखकर आपकी आँखे आंसुओं को नहीं रोक पाती है. रोना कभी-भी इन्सान की कमजोरी नहीं होता है इस समय व्यक्ति बहुत ही निर्मल हो जाता है और अपनी फीलिंग्स आसानी से बाहर ला पाता है.

दूसरो के लिए धडके दिल

कोई भी फिल्म देखते समय आपका दिमाग उसके चरित्र से अपने आप को जोड़ लेता है उसके बारे में सोचकर उसकी परवाह करने लगता है और आखिर में रोने लगता है. इस बात से यह समझा जा सकता है कि आपका दिल दूसरो की परवाह करता है और उनके लिए धडकता है.

loading...
(Visited 110 times, 1 visits today)

Related posts:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Skip to toolbar