वीरता और शौर्यता की निशनी हैं भारतीय सेना के वचन, पढ़ें

हमारे देश के बहादुर सैनिक रात-दिन प्रतिकूल  परिस्थितियों में भी सीमा पर कड़ी नज़र रखते हैं कहीं कोई दुश्मन देश में न घुस आये. इनकी रात दिन कठोर पहरेदारी की वजह से हम अपने घरों में रात को चैन की नींद सो रहे है. भारतीय सेना एक सच्चे समर्पण और देशभक्ति की भावना के साथ काम करती है, लेकिन क्या आप जानते हैं भारतीय सेना के वचन, यदि नहीं. तो आइए जानते हैं..

“मैं तिरंगा फहराकर वापस आऊंगा या फिर तिरंगे में लिपटकर आऊंगा, लेकिन मैं वापस अवश्य आऊंगा” – कैप्टन विक्रम बत्रा, परम वीर चक्र

“जो आपके लिए जीवनभर का असाधारण रोमांच है, वो हमारी रोजमर्रा की जिंदगी है” – लेह-लद्दाख राजमार्ग पर साइनबोर्ड (भारतीय सेना)

“यदि अपना शौर्य सिद्ध करने से पूर्व मेरी मृत्यु आ जाए तो ये मेरी कसम है कि मैं मृत्यु को ही मार डालूँगा” – कैप्टन मनोज कुमार पाण्डे, परम वीर चक्र, 1/11 गोरखा राइफल्स

“हमारा झण्डा इसलिए नहीं फहराता कि हवा चल रही होती है, ये हर उस जवान की आखिरी साँस से फहराता है जो इसकी रक्षा में अपने प्राणों का उत्सर्ग कर देता है” – भारतीय सेना

“हमें पाने के लिए आपको अवश्य ही अच्छा होना होगा, हमें पकडने के लिए आपको तीव्र होना होगा, किन्तु हमें जीतने के लिए आपको अवश्य ही बच्चा होना होगा” – भारतीय सेन

“ईश्वर हमारे दुश्मनों पर दया करे, क्योंकि हम तो करेंगे नहीं” – भारतीय सेना

“हमारा जीना हमारा संयोग है, हमारा प्यार हमारी पसंद है, हमारा मारना हमारा व्यवसाय है” – अॉफीसर्स ट्रेनिंग अकादमी, चेन्नई

“यदि कोई व्यक्ति कहे कि उसे मृत्यु का भय नहीं है तो वह या तो झूठ बोल रहा होगा या फिर वो इंडियन आर्मी का ही होगा” – फील्ड मार्शल सैम मानेकशॉ

“आतंकवादियों को माफ करना ईश्वर का काम है, लेकिन उनकी ईश्वर से मुलाकात करवाना हमारा काम है” – भारतीय सेना

“इसका हमें अफसोस है कि अपने देश को देने के लिए हमारे पास केवल एक ही जीवन है” – अॉफीसर प्रेम रामचंदानी

loading...

Brajendra Sharma

नमस्ते, मैं एक हिन्दी ब्लॉगर हूँ और मुझे देशी-विदेशी, करियर, से जुड़ी स्टोरीज लिखना अच्छा लगता हैं एवं मुझे ऐसी स्टोरीज लिखना भी पसंद है जो आपको अच्छी लगें. इसलिए आप मुझें comment करके बता सकते हैं.

Skip to toolbar