siteswebdirectory.comरामनाथ कोविंद समेत जाने अब तक के सभी भारत के राष्ट्रपति .. - Fadoo Post

रामनाथ कोविंद समेत जानें शुरुआत से लेकर अब तक के सभी राष्ट्रपति के बारे में

भारत के नए राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने इस वर्ष 14वें राष्ट्रपति के रूप में 25 जुलाई को राष्ट्रपति भवन में शपथ ली. 25 जुलाई 2017 को उच्चतम न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश जे एस खेहर ने भारत के राष्ट्रपति के पद पर शपथ दिलायी. लेकिन क्या आप भारत के शुरुआत से लेकर अब तक के सभी राष्ट्रपति के बारे में जानते हैं. यदि नहीं तो आज हम आपको बताएंगे ….

डॉ. राजेंद्र प्रसाद ( कार्यकाल : 26 जनवरी 1950 से 13 मई 1962 )

Dr. RAJENDRA PRASAD

डॉ. राजेंद्र प्रसाद भारत के प्रथम राष्ट्रपति थे. वह भारतीय स्वाधीनता आन्दोलन नेताओ में से थे जिन्होंने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई. उन्होंने भारत के संविधान में महत्त्वपूर्ण योगदान दिया. लोकप्रिय होने के कारण उन्हें राजेंद्रबाबू या देशरत्‍ना भी कहा जाता था. राजेंद्र प्रसाद का विवाह बाल्य काल में लगभग 13 वर्षा कि उम्र में ही हो गया.लॉ के क्षेत्र में ही उन्होंने डॉक्ट्रेट की उपाधि भी हासिल की. अवकाश प्राप्‍त करने के पश्‍चात उन्हें भारत रत्‍न से सम्‍मानित किया गया. इनकी मृत्यु पटना के निकट में सदाकत आश्रम में 28 फरवरी 1963 को हुई.

डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन ( कार्यकाल : 13 मई 1962 से 13 मई 1967 )

Radha-krishnan

डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन भारत के उपराष्ट्रपति व द्वितीय राष्ट्रपति रहे. डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन का जन्म तमिलनाडु के तिरूतनी ग्राम में 5 सितम्बर 1888 को हुआ जिसे ‘शिक्षक दिवस’ के रूप में मनाया जाता हैं. इन्हें ब्रिटिश साम्राज्य द्वारा सन् 1931 में भारत रत्न से सम्मानित किया गया था. इनकी मृत्यु सन् 1975 हुई थी.

डॉ. ज़ाकिर हुसैन ( कार्यकाल : 13 मई 1967 से 3 मई 1969 )

dr jakir hussain

डॉ. ज़ाकिर हुसैन  भारत के तीसरे राष्ट्रपति थे. डॉ जाकिर हुसैन का जन्म 8 फरवरी 1897 ई. में आँध्रप्रदेश के हैदराबाद जिले में हुआ था. जाकिर हुसैन पहले निर्वाचित मुस्लिम राष्ट्रपति थे. इनका निधन 3 मई 1969 को न्यू दिल्ली में हुआ.

वी॰ वी॰ गिरि ( कार्यकाल : 3 मई 1969 से 20 जुलाई 1969 और 24 अगस्त 1969 से 24 अगस्त 1974 )

वी॰ वी॰ गिरि

V.V. गिरी का पूरा नाम वराहगिरी वेंकट गिरी था जो भारत के चौथे राष्ट्रपति बने. इनका जन्म 10 अगस्त 1884 में ब्रहमपुर, ओडिशा में हुआ था. गिरी को 1975 में भारत रत्न से सम्मानित किया गया था. वे राज्यपाल के रूप में उत्तर प्रदेश (1957-1960) और केरल (1960-1965) से चुने गये थे. इनकी मृत्यु सन् 1980 हुई थी.

मुहम्मद हिदायतुल्लाह ( कार्यकाल : 20 जुलाई 1969 से 24 अगस्त 1969 )

मुहम्मद हिदायतुल्लाह

मुहम्मद हिदायतुल्लाह भारत के प्रथम मुस्लिम मुख्य न्यायाधीश थे. इन्होनें भारत के पांचवे राष्ट्रपति के रूप में कार्यभार संभाला था. इनका जन्म 17 दिसम्बर 1905 को लखनऊ में हुआ था. नया रायपुर में स्थित हिदायतुल्लाह राष्ट्रीय विधि विश्वविद्यालय का नाम उनके नाम पर रखा गया है. इनकी मृत्यु 18 सितम्बर 1992 में हुई थी.

डॉक्टर फ़ख़रुद्दीन अली अहमद 

डॉक्टर फ़ख़रुद्दीन अली अहमद का जन्म 1905 और मृत्यु 1977 में हुई थी इनका कार्यकाल 24 अगस्त 1974 से 11 फरवरी 1977 तक रहा.

बी डी जत्ती ( कार्यकाल : 11 फरवरी 1977 से 25 जुलाई 1977 )

बी डी जत्ती भारत के उपराष्ट्रपति थे, जिनका जन्म 10 सितंबर 1913 में हुआ. जत्ती 1977 में राष्ट्रपति फ़ख़रुद्दीन अली अहमद के निधन के बाद 6 माह तक भारत के कार्यबाहक राष्ट्रपति थे. जिनकी  मृत्यु 7 जून 2002 को बेंगलोर में हो गयी थी. इससे पहले वे मसूर राज्य के मुख्यमंत्री थे.

नीलम संजीव रेड्डी  ( कार्यकाल : 25 जुलाई 1977 से 25 जुलाई 1982 )

राष्ट्रपति

नीलम संजीव रेड्डी भारत के छठे राष्ट्रपति थे. उनका जन्म आँध्रप्रदेश के कृषक परिवार में हुआ था. वे अक्टूबर 1956 में आन्ध्र प्रदेश के पहले मुख्यमंत्री बनें. उनका जन्म 19 मई 1913 को और निधन 1 जून 1996 में हुआ.

ज्ञानी जैल सिंह ( कार्यकाल : 25 जुलाई 1982 से 25 जुलाई 1987 )

ज्ञानी जैल सिंह

ज्ञानी जैल सिंह भारत के सातवें राष्ट्रपति थे, इनका जन्म 1916 में हुआ. वे राजनीतिक सत्यनिष्ठा के  कठिन रास्ते को पार करते हुए वे 1982 में  भारत के गौरवमय राष्ट्रपति के पद पर आसीन हुए. 1987 तक के अपने कार्यकाल के दौरान इन्हें ‘ब्लूस्टार आपरेशन’ एवं इंदिरा गांधी की हत्या जैसी दुर्भाग्यपूर्ण परिस्थितियों से गुजरना पड़ा. इनकी मृत्यु 1994 में हुई.

आर वेंकटरमण  ( कार्यकाल : 25 जुलाई 1987 से 25 जुलाई 1992 )

रामस्वामी वेंकटरमण जी भारत के 8 वें राष्ट्रपति बने. राष्ट्रपति बनने से पहले वे उप राष्ट्रपति थे वेंकटरमन का जन्‍म 4 दिसंबर, 1910 को तमिलनाडु में तंजौर के निकट पट्टुकोट्टय में हुआ था और इनकी मृत्यु मंगलवार 27 जनवरी 2009 को लंबी बीमारी से हुई.

डॉक्टर शंकर दयाल शर्मा  ( कार्यकाल : 25 जुलाई 1992 से 25 जुलाई 1997 )

डॉक्टर शंकर दयाल शर्मा

डॉक्टर शंकर दयाल शर्मा भारत के नवे राष्ट्रपति थे, जिनका जन्म 1918 में हुआ था. राष्ट्रपति बनने के पूर्व ये भारत के आठवे उपराष्ट्रपति थे. दयाल शर्मा 1952-1956 तक भोपाल के मुख्यमंत्री रहे. इनकी मृत्यु 9 अक्टूबर 1999 को दिल का दौरा पड़ने से हुई.

के आर नारायणन ( कार्यकाल : 25 जुलाई 1997 से 25 जुलाई 2002 )

के आर नारायणन

के आर नारायणन भारत के 10वें राष्ट्रपति थे, उनका जन्म 1920 में केरल में हुआ था. इन्होने त्रावणकोर विश्वविद्यालय से अंग्रेज़ी में स्नातकोत्तर की उपाधि धारण की. के आर नारायणन की मृत्यु 2005 में हुई.

डॉक्टर एपीजे अब्दुल कलाम ( कार्यकाल : 25 जुलाई 2002 से 25 जुलाई 2007 )

डॉक्टर एपीजे अब्दुल कलाम

डॉक्टर एपीजे अब्दुल कलाम का पूरा नाम अबुल पकिर जैनुलाअबदीन अब्दुल कलाम था, जिन्हें मिसाइल मेन के नाम से भी जाना जाता था. इनका जन्म 1931 को हुआ. डॉक्टर एपीजे अब्दुल कलाम भारतीय गणतंत्र के ग्यारहवें निर्वाचित राष्ट्रपति थे. वे जाने-माने वैज्ञानिक व इंजीनियर थेें. इनका निधन 27 जुलाई 2015 को हुआ.

प्रतिभा पाटिल ( कार्यकाल : 25 जुलाई 2007 से 25 जुलाई 2012  )

 प्रतिभा पाटिल

भारत की पहली महिला राष्ट्रपति तथा 12वीं राष्ट्रपति प्रतिभा पाटिल थी. उनका जन्म 19 दिसंबर 1934 महाराष्ट्र के जलगाँव में हुआ था. उन्होंने जलगाँव के मूलजी जेठा कालेज से स्नातकोत्तर (एम ए) और मुंबई के गवर्नमेंट लॉ कालेज (मुंबई विश्वविद्यालय) से कानून की पढा़ई की.वे टेबल टेनिस की अच्छी खिलाड़ी थीं तथा उन्होंने कई अन्तर्विद्यालयी प्रतियोगिताओं में विजय प्राप्त हुई.

प्रणब मुखर्जी (कार्यकाल : 25 जुलाई 2012 से 25 जुलाई 2017 )

आर वेंकटरमण  

प्रणब मुखर्जी  भारत के तेरहवें व पूर्व राष्ट्रपति रह चुके हैं. इनका जन्म 11 दिसंबर 1935 को पश्चिम बंगाल के वीरभूम जिले के  किरनाहर शहर के निकट स्थित मिराती गाँव में हुआ था. कलकत्ता विश्वविद्यालय में कानून कि डिग्री हासिल करने के साथ साथ उन्होंने  इतिहास और राजनीति विज्ञान में स्नातकोत्तर की उपाधि भी प्राप्त की.

राम नाथ कोविंद (20 जुलाई 2017)

भारत के राष्ट्रपति

राम नाथ कोविन्द का जन्म उत्तर प्रदेश के कानपुर जिला (वर्तमान में कानपुर देहात जिला) की तहसील डेरापुर, कानपुर देहात के एक छोटे से गाँव परौंख में हुआ था. वकालत की उपाधि लेने के पश्चात उन्होने दिल्ली उच्च न्यायालय में वकालत प्रारम्भ की.

loading...
(Visited 172 times, 1 visits today)

Related posts:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Skip to toolbar