एक-दो नहीं, बल्कि 30 बार मरकर ज़िन्दा हुआ ये शख्स

क्या आपने किसी इसे शख्स के बारे में सुना है जो मरने के कुछ समय बाद ज़िन्दा हो उठा हो . शायद ही किसी ने ऐसे इन्सान के बारे में सुना हो अगर सुना भी होगा तो सिवाय फिल्मों और कहानियों में. पर इस दुनिया में कुछ ऐसे भी शख्स हैं जो वास्तविकता में अपनी मौत को हराकर ज़िन्दा हुए हैं. ऐसे ही एक शख्स के बारे में हम आपको बताने जा रहे हैं जो एक-दो नहीं, बल्कि 30 बार मरकर ज़िन्दा हुआ ये शख्स .

एक-दो नहीं, बल्कि 30 बार मरकर ज़िन्दा हुआ ये शख्स …..

55 वर्षीय म्खितर तरियेवा ने 30 बार दिया मौत को चकमा

दरअसल हम बात कर रहे हैं रूस के मास्को में रहने वाले 55 वर्षीय म्खितर तरियेवा को डॉक्टर्स ने सर्जरी के दौरान एक-दो नहीं, बल्कि  30 बार क्लिनिकली डेड घोषित किया था वो हर बार मौत को चकमा देकर ज़िन्दा हो उठे.

डॉक्टर्स ने CPR के जरिए उन्हें फिर से जिंदा किया

मॉस्को में रहने वाले म्खितर तरियेवा को कार्डियक अटैक के बाद हॉस्पिटल में एडमिट कराया गया था. जब उन्हें ऑपरेशन थिएटर लेकर जा रहे थे, तब वो कोमा में थे. इसके अगले डेढ़ घंटे म्खितर ने जिन्दगी और मौत के बीच झूलते हुए बिताया. इस दौरान करीब 30 बार म्खितर की हार्ट बीट रुक गई थी. लेकिन डॉक्टर्स ने CPR के जरिए उन्हें फिर से जिंदा किया.

30 बार मौत को हराकर बना दिया वर्ल्ड रिकॉर्ड

सर्जरी के बाद म्खितर जब पूरी तरह स्वस्थ हो गए, तब उन्होंने रुसी मीडिया को दिए इंटरव्यू के दौरान बताया कि इन डेढ़ घंटे में उन्हें ऐसा लगा कि वो कहीं जाना चाहते थे, लेकिन कोई बार-बार उनका हाथ हिलाते हुए कह रहा था कि अभी समय नहीं आया है. जिन डॉक्टर्स ने म्खितर का इलाज किया, उनके मुताबिक, शायद उन्होंने 30 बार मौत को हराकर वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाया है.

क्लीनिकली डेड हो गए थे म्खितर

अपनी सर्जरी के दौरान म्खितर को डॉक्टर्स ने 30 बार क्लिनिकली डेड घोषित किया था. मेडिकल साइंस में दो टर्म्स का इस्तेमाल किया जाता है. पहला ब्रेन डेड, जिसमें इंसान का दिल और फेफड़ा काम करता रहता है लेकिन उसका दिमाग किसी भी चीज का जवाब नहीं देता। दूसरा टर्म है क्लिनिकल डेथ, इसमें इंसान के सारे बॉडी पार्ट्स काम करना बंद कर देते हैं. लेकिन Cardiopulmonary Resuscitation (CPR) के जरिए दिल की धड़कनें फिर से शुरू की जा सकती हैं.डॉक्टर्स के मुताबिक, मौत के 38 मिनट बाद तक CTR के जरिए इंसान की धड़कनें शुरू की जा सकती है.

 

loading...

Rajdeep Raghuwanshi

नमस्ते , मैं एक प्रोफेशनल ब्लॉगर हूँ और मुझे एंटरटेनमेंट, लाइफस्टाइल और ह्यूमर पर लिखना पसंद है !

Skip to toolbar