‘फ्रीडा’ मैक्सिको भूकंप के बाद लोगों के लिए मसीहा

कुछ दिनों पहले मैक्सिको में भूकंप के झटकों ने 295 से ज्यादा लोगों की जिंदगियां छीन ली. इस भूकंप में कई लोग बेघर, तो कई मलबे में फंसे मिल रहे हैं, भूकंप के बाद मैक्सिको में राहत और बचाव कार्य जारी है, लेकिन आज हम आपको फ्रीडा के बारे में बताने वाले हैं जो इस प्राकृतिक आपदा में लोगों के लिए मसीहा बन रही है.

दरअसल फ्रीडा कोई महिला नहीं बल्कि एक गोल्डन लेब्राडोर है, जो मैक्सिको में आए विनाशकारी भूकंप में अभी भी लोगों को बचाने वाले कर्मियों की मदद कर रहीं है. वो इतनी ट्रेंड हैं कि वो मलबे में दबे लोगों को सूंघकर उनका पता लगा रही है.

भूकंप के बाद जारी बचाव कार्य में फ्रीडा काफी एक्टिव होकर काम कर रही है और अपने इस काम से वह सोशल मीडिया पर भी फेमस हो गई है. फ्रीडा की दीवानगी लोगों में इस कदर है कि एक आदमी ने उसका टैटू अपने हाथ पर गुदवा लिया.

फ्रीडा मेक्सिको के बचाव दल की सदस्य है जो भूकंप में गिरी 39 इमारतों के मलबे से लोगों को बचाने में लगा हुआ है. आपको बता दें कि फ्रीडा को सबसे पहले एक स्कूल में लेकर गए जहां 19 बच्चों और 6 वयस्कों की मौत हुई थी. फ्रीडा मलबे में फंसे जिंदा लोगों का पता लगाने में माहिर है, उन्होंने अब तक 12 लोगों की जानें बचाई हैं.

मेक्सिको के बचाव दल के ही एक सैनिक ने फ्रीडा के बारे में बताया कि वह लोगों के बीच खुशी और उम्मीद की किरण जगाती है, लोग सड़क पर उसे सल्यूट तक करते हैं. उसके साथ मिशन पर होना उनके लिए गर्व की बात है.

loading...

Brajendra Sharma

नमस्ते, मैं एक हिन्दी ब्लॉगर हूँ और मुझे देशी-विदेशी, करियर, से जुड़ी स्टोरीज लिखना अच्छा लगता हैं एवं मुझे ऐसी स्टोरीज लिखना भी पसंद है जो आपको अच्छी लगें. इसलिए आप मुझें comment करके बता सकते हैं.

Skip to toolbar