नवरात्र में किसके बिना है कन्या पूजन अधूरा, जानें

नौ दिनों तक चलने वाले इस नवरात्र में मां दुर्गा के नौ रूपों की पूजा की जाती है. हिन्दू परंपरा के अनुसार इन 9 दिनों का विशेष महत्व होता है. इसलिए हम आपको बताने वाले है कि कन्याओं के साथ किसे और बुलाए हैं, जिससे आपकी कन्या पूजन पूरी हो जाए.

किसे बुलाए कन्याओं के साथ :

कन्या पूजन करते समय ये बातें जरुर ध्यान रखें कि नौ कन्याओं और एक लांगुरे (लड़के) को आमंत्रित करें. लांगुरे को माता के रक्षक हनुमान के रूप में बुलाया जाता है. आपको बता दें कि लांगुरे के बिना कन्या पूजन अधूरा रहता है.

ऐसे करें कन्या पूजन :

इन कन्याओं के पैर धोकर आसन पर बैठाए और माता रानी को भोग लगाने के बाद कन्याओं को यही प्रसाद वितरित करें और सामर्थ्य अनुसार दक्षिणा भी दें. इसके साथ उनके हाथों में मौली यानी कलावा बांधें और माथे पर रोली से टीका लगाएं, कन्याओं के लाल चुनरी और लाल चूड़ियां भी दे सकते हैं.

इसके बाद उनके चरण स्पर्श कर अपने और परिवार के लिए शांति और सम्पन्नता का आशीर्वाद लें.

loading...

Brajendra Sharma

नमस्ते, मैं एक हिन्दी ब्लॉगर हूँ और मुझे देशी-विदेशी, करियर, से जुड़ी स्टोरीज लिखना अच्छा लगता हैं एवं मुझे ऐसी स्टोरीज लिखना भी पसंद है जो आपको अच्छी लगें. इसलिए आप मुझें comment करके बता सकते हैं.

Skip to toolbar