विरोध के कारण इस साल भी रामलीला नहीं कर सकेंगे नवाज़

अपने अभिनय की छाप बॉलीवुड में छोड़ने वाले नवाज़ को पिछले साल जहाँ रामलीला में उनके मुसलमान होने की वजह से मंचन करने से रोक दिया गया था. इस साल कयास लगाये जा रहें हैं कि नवाज़ जरुर रामलीला के लिए आयेंगे. रामलीला की आयोजक भी उनके इंतज़ार में हैं.

nawaz
source: the indian express

पिछले साल 6 अक्टूबर 2016 को जब शिवसेना के कार्यकर्ताओं ने धार्मिक नाटक में नवाज़ की परफॉर्मेंस का विरोध किया तो उन्होंने ट्विट कर बताया था कि वो अपने बचपन के सपने को पूरा करना चाहते हैं.

 

नवाज ने लिखा था- मेरे बचपन का सपना पूरा नहीं हो पाया लेकिन मैं निश्चित तौर पर अगले साल रामलीला का हिस्सा बनूंगा. अब रामलीला के आयोजक एक्टर के वापस आने की उम्मीद कर रहे हैं.

यह भी पढ़ें: 

यह अलग बात है कि आयोजक की इस मामले में नवाज़ से कोई बात नहीं हुई है. उन्होंने टीओआई से बातचीत में कहा की मुझे नहीं लगता इस साल वे रामलीला का हिस्सा बन सकते हैं. फिर भी हमे उनका इंतज़ार रहेगा क्योंकि उन्होंने वापिस आने का वादा किया था. नवाज़ पिछले साल रामलीला में मारीच का किरदार करने वाले थे. कार्यकर्ताओं ने विरोध में यह तर्क दिया था की 50 सालों से रामलीला मंच पर किसी मुस्लिम एक्टर ने कदम नही रखा है.

loading...
Skip to toolbar