16 साल की इस भारतीय बेटी के नाम पर रखा ग्रह का नाम , पढ़ें

कहते हैं कि प्रतिभा किसी उम्र  की मोहताज़ नहीं होती और ऐसे कई उदाहरण कहे-सुने होंगे .  ऐसा की कुछ साबित करके दिखाया है भारत की इस 16 साल की बेटी ने जिनके नाम पर एक ग्रह को पहचान मिली है.

दरअसल , बेंगलूरु में पढऩे वाली 16 साल की सहिति पिंगली ने अपने शहर की एक झील को प्रदूषित होने से बचाने का नया तरीका खोज निकाला है.  इस लड़की के सम्मान में एमआईटी लिंकन लेबोरेटरी ने एक ग्रह को सहिति का नाम दे दिया.

एमआईटी को छोटे ग्रहों के नामकरणर करने का दर्जा मिला है. खबरों की मानें तो सहिति इंटरनेशनल साइंस फेयर में शामिल हुई थीं. यहां अर्थ एंड इनवायरमेंटल साइंस कैटेगरी में सहिति को द्वितीय पुमरस्कार मिला. इस खुशी में एमआईटी ने सहिति के नाम पर ग्रह का नाम रखने का विचार किया.

बेंगलूरु में रहने वाली सहिति मिशिगन यूनिवर्सिटी में इनवायरमेंटल एंड वॉटर रिसोर्स इंजीनियरिंग सेंटर में पढ़ रही हैं.दरअसल सहिति ने एक एपलीकेशन डेवलप किया है, जो वॉटर टेस्टिंग के लिए डेटा इकट्ठा करता है.यह मोबाइल बेस्ड ऐप इलेक्ट्रॉनिक सेंसर पर काम करता है. जिसकी मदद से वॉटर सैंपल के फिजिकल और कैमिकल पैरामीटर को मापा जा सकता है. इस ऐप में कलर रिकगनाइजेशन और मैपिंग सॉफ्टवेयर भी इनबिल्ट है.

loading...

Rajdeep Raghuwanshi

नमस्ते , मैं एक प्रोफेशनल ब्लॉगर हूँ और मुझे एंटरटेनमेंट, लाइफस्टाइल और ह्यूमर पर लिखना पसंद है !

Skip to toolbar