ध्यान दें! आपके पीने के पानी में भी हो सकता है प्लास्टिक

आज कल जो पीने के पानी का इस्तेमाल होता है अधिकतर वह पानी नलों का ही होता है. लेकिन इस पानी के सहारे मानव शरीर के भीतर 3 से 4 हजार माइक्रोपार्टिकल यानि प्लास्टिक के अतिसूक्ष्म कण पहुँच जाते हैं.

यह भी पढ़ें: दिमाग को तनाव से दूर रखेंगी ये आयुर्वेदिक चीज़े

यह खुलासा हुआ है एक रिसर्च के दौरान किया गया है जिसमे 14 देशों से पानी का सैंपल इकट्ठा किया गया और उन पर प्रयोग किया गया. Orb मीडिया ने 154 टैप वाटर के सैंपल पर रिसर्च करके यह रिपोर्ट दी है कि पानी में प्लास्टिक के कण पाए गये हैं.

source: wikipedia

यह टेस्ट अमेरिका की यूनिवर्सिटी ऑफ़ मिनिसोटा और स्टेट यूनिवर्सिटी ऑफ़ न्यूयॉर्क के अनुसंधानकर्ताओं द्वारा करायी गयी थी. इस टेस्ट के नतीजों के बाद स्वास्थ्य पर इसके प्रभाव के बारे में कोई जानकारी नहीं दी गयी है.

source: google image

इस स्टडी का संचालन करने वाली Orb मीडिया ने अपनी रिपोर्ट में यह भी बताया की प्लास्टिक के इन कणों से नदी, तालाब और समुद्र ने अलावा हवा भी प्रदूषित हो रही है. अनुसंधानकर्ताओं ने बताया की इस तरह की यह पहली स्टडी थी. जिसमे पानी में मौजूद प्लास्टिक पार्टिकल्स के बारे में रिसर्च की गयी है.

यह भी पढ़ें: आखिर क्यों कहा जा रहा हैं इस लड़की को अल्बर्ट आइंस्टीन

इस स्टडी के दौरान शुरुआती 3 महीने में यूगांडा के कंपाला, नई दिल्ली, जकार्ता, लेबनान के बेऊरत, इक्वाडोर के क्वितो के अलावा 7 यूरोपियों देशों और अमेरिका के अलग-अलग शहरों से सैंपल्स इक्ट्ठा किए गए थे.

अनुसंधानकर्ताओं का कहना है की इस तरह की रिसर्च से पीने के पानी में प्लास्टिक कणों से होने वाले मनुष्य के शरीर को नुकसान और इसके उपभोग से होने वाले सम्भावित खतरों के बारे में जाना जा सकता है.

loading...
(Visited 25 times, 1 visits today)

Related posts:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Skip to toolbar