siteswebdirectory.comSaudi Arabien girls भी दिखेंगी, अब प्लेग्राउंड में.....- Fadoo Post

Saudi Arabien girls भी दिखेंगी, अब प्लेग्राउंड में…..

सऊदी अरब दुनियाभर में अपने कड़े कानून और शरियत के लिए जाना जाता है. वहां महिलाओं के पास उतने अधिकार नहीं है जितने पुरुषों के पास है या यूँ कहे की सऊदी अरब एक पुरुषप्रधान देश है. सऊदी में अभी भी महिलाओं को कड़ी पहरेदारी के अंदर रहना पड़ता है. सऊदी अरब में महिलाओं को लेकर काफी रूढ़िवादी मानसिकता है. महिलाओं के गाड़ी चलाने पर प्रतिबंध है और उन्हें विदेश यात्रा करने या पासपोर्ट बनवाने के लिए पुरष संरक्षक की अनुमति लेना अनिवार्य होता है. परन्तु अब सऊदी अरब ने इतिहास में पहली बार सरकारी स्कूल में पढ़ने वाली लड़कियों के लिए फिजिकल एजुकेशन को मंजूरी दे दी है.Saudi Arabien girls

ये भी पढ़ें : दिमाग को भी धोखा दे देता है pareidolia जानें कैसे

Saudi Arabien girls

Saudi Arabien girls
Image Source : i2.cdn.cnn.com

ये भी पढ़ें : तीनों खान निभा चुके हैं स्पेशल चाइल्ड किरदार

अब सऊदी अरब की लडकियां भी सरकारी स्कूलों में होने वाले खेलकूंद प्रतियोगिताओं में भाग ले सकेंगी. देशभर में महिलाएं अपने अधिकारों तथा खेलों में हिस्सा लेने के लिए सालों से मांग कर रही हैं, जिसके बाद सऊदी सरकार ने यह कदम उठाया है.Saudi Arabien girls

Saudi Arabien girls
Image Source : static01.nyt.com

ये भी पढ़ें : यह गाना निकला यूट्यूब पर सबसे आगे

शिक्षा मंत्रालय ने कहा, कि वह धीरे-धीरे और इस्लामिक शरिया कानूनों के अनुसार शारीरिक शिक्षा की कक्षाएं शुरू करेगा. सऊदी अरब के एक कार्यकर्ता ने ट्विटर पर पूछा कि क्या लड़कियों को खेलों में भाग लेने से पहले पुरष संरक्षक जैसे कि पिता से अनुमति लेनी होगी. यह भी स्पष्ट नहीं है कि क्या ये कक्षाएं पाठ्येत्तर कार्यक्रम का हिस्सा हैं या अनिवार्य हैं.Saudi Arabien girls

Saudi Arabien girls
Image Source : i.telegraph.co.uk

ये भी पढ़ें : अब फ्री में चलाएं फेसबुक , लांच हुआ नया फीचर

पब्लिक स्कूलों में लड़कियों को खेलने देने के फैसला बहुत महत्वपूर्ण माना जा रहा है क्योंकि देश में अभी भी महिलाओं का एक्सरसाइज करना तक ‘असभ्य’ माना जाता है. देश में एक बड़ा तबका इसे अश्लील मानता रहा है. सिर्फ 4 साल पहले ही सऊदी अरब ने आधिकारिक तौर प्राइवेट स्कूलों में लड़कियों के खेलों में शामिल होने को मंजूरी दी थी लेकिन अभी तक इसको लागू करने के लिए कोई व्यवस्था नहीं की गई. सऊदी अरब की ओलिंपिक टीम में महिलाओं ने पहली बार 2012 में लंदन गेम्स के दौरान हिस्सा लिया था.Saudi Arabien girls

loading...
(Visited 48 times, 1 visits today)

Related posts:

फोरेन ट्रिप का अच्छा मौका, जल्द करें फ्री मिल रहा है वीज़ा.....
क्यूँ है शिया-सुन्नी मुसलमानों में आपसी विवाद, पढ़ें पूरा
दुर्घटना में खो दिया था हाथ, आज कृतिम हाथ से मोबाइल फ़ोन कर देते हैं चार्ज
दुनिया की इन जगहों पर लोग जाते हैं मूड बनाने
कैसे जिन्दा रहा ये शख्स 256 साल तक , जाने
इस झील का पानी 20 सेकंड्स में उबाल देगा चावल....
रोबर्ट वाड्रा दुनिया के नामी दामादों में शुमार
वे लोग जिन्होंने दान कर दी करोड़ों की सम्पति , बच्चों के नाम नहीं किया वसीयतनामा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Skip to toolbar