राम मूर्ति के लिए चांदी के तीर भेंट करेंगे शिया मुसलमान

एक तरफ जहाँ हिन्दू-मुसलमानों के विवाद की ख़बरें आती हैं वहीँ दूसरी और एक ऐसी खबर सामने आई है जो एकता का प्रतीक बन सकती है. नया अयोध्या प्लान के तहत सरयू नदी के किनारे मर्यादापुरुषोत्तम राम की मूर्ति बनाने का विचार चल रहा है इसी मूर्ति के लिए उत्तर प्रदेश के शिया वक्फ बोर्ड ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को एक प्रस्ताव भेजा है, जिसमे 10 चांदी के तीर भेंट करने की बात कही है.

बोर्ड के अध्यक्ष वसीम रिज़वी ने कहा कि यह तीर आतंकवाद के खिलाफ लडाई के प्रतीक होंगे, जिस तरह से राम ने राक्षसों का वध किया था उसी तरह हम चाहते हैं कि ये तीर आतंकवाद के खिलाफ लडाई का प्रतीक बने. और सभी धर्मों को मानने वाले लोग शांति से रह सके.

धार्मिक पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए राज्य के पर्यटन विभाग ने एक प्रेजेंटेशन गवर्नर राम नाइक को बताई थी. सरकार ने इस प्रेजेंटेशन में भगवन राम की 100 मीटर ऊँची प्रतिमा की बात भी कही है, लेकिन अभी इस बारे में कुछ फाइनल नहीं है.

यह भी पढ़ें: 

राज भवन से जारी एक प्रेस विज्ञप्ति के मुताबिक पर्यटन विभाग के प्रिंसिपल सेक्रेटरी अवनीश कुमार अवस्थी ने यह प्रेजेंटेशन बनाई थी. विज्ञप्ति में कहा गया था कि राष्ट्रीय हरित अधिकरण (एनजीटी) से मंजूरी मिलने के बाद मूर्ति को सरयू घाट पर बनाया जाएगा. अयोध्या के एकीकृत विकास के लिए राज्य सरकार ने केंद्रीय पर्यटन मंत्रालय को 195.89 करोड़ की डीपीआर भेजी है और मंत्रालय राज्य सरकार को अब तक 133.70 करोड़ रुपये दे चुका है.

loading...
Skip to toolbar