siteswebdirectory.comजल्लीकट्टू क्यूँ हैं इतना लोकप्रिय, जाने इस जानलेवा खेल से जुड़े कुछ रोचक बातें - फाडू पोस्ट

जल्लीकट्टू क्यूँ हैं इतना लोकप्रिय, जाने इस जानलेवा खेल से जुड़े कुछ रोचक बातें

जल्लीकट्टू प्रथा के बारे में आपने काफी सुना होगा.तमिलनाडु में पोंगल के मौके पर खेली जाने वाली जल्लीकट्टू प्रथा काफ़ी सुर्ख़ियों में है. दरअसल जल्लीकटुट के सुर्ख़ियों में होने के पीछे की वजह सुप्रीमकोर्ट द्वारा इस प्रथा पर अंतरिम बैन लगा देना है.तमिलनाडु में इस वक्त जल्लीकट्टू को लेकर के बवाल मचा हुआ है. और राज्य में इस खेल को जारी रखने के समर्थन में लोग प्रदर्शन कर रहे हैं. जल्लीकट्टू तमिलनाडु में प्राचीनकाल से चला आ रहा है.  इसलिए इसलिए तमिलनाडु के लोग सुप्रीमकोर्ट के इस प्रतिबंध को वापस लेने की मांग कर रही है.

जाने, जल्लीकट्टू से जुड़े ये रोचक बातें

क्यूँ है इस प्रथा का नाम जल्लीकट्टू

jallikattu

जल्लीकट्टू प्रथा का नाम दो शब्दों से पड़ा है. तमिल भाषा में ‘जल्ली’ शब्द सल्ली से आया है जिसका मतलब ‘सिक्के’ होता है. कट्टू शब्द का अर्थ होता है ‘बांधा हुआ’.इस खेल में सांडों के सींग पर लाल कपड़ा बांधा जाता है, जो कि खिलाड़ी को निकालना होता है. सांड को भीड़ में छोड़ दिया जाता है. भीड़ में जो भी व्यक्ति  इस बंधे हुए कपड़े को सांड के सींग निकाल लेता है उसको ईनाम में सिक्के मिलते हैं.

 सिन्धु सभ्यता के समय से हैं इस खेल प्रमाण

jallikattu
image source : indiatv

सिंधु सभ्यता के समय की मिली एक सील में भी इसका चित्र अंकित है. जो दिल्ली के संग्रहालय में रखी हुई है. मदुरै के पास मिली एक पेंटिंग मिली थी. जिसमें एक व्यक्ति सांड को नियंत्रित करता दिख रहा है. माना जाता है कि ये पेंटिंग 2500 साल पुरानी है.

400 ईसा पूर्व में शुरू हुआ था यह खेल

jallikattu
image source :currentriggers.com

जल्लीकट्टू प्रथा  तमिलनाडु में 400 ईसा.पूर्व से चली आ रही है.

सांडों को आक्रामक बनाए के लिए दी जाती विशेष ट्रेनिंग

jallikattu

इन सांडों को आक्रामक बनाने की ट्रेनिंग दी जाती है ताकि कोई अजनबी इनके पास न आ सके. जो इन सांडों को पालते हैं उनके लिए ये पवित्र होते हैं.

जिला मजिस्ट्रेट की निगरानी में सांडों की होती है जाँच

jallikattu

सांडों की आक्रामकता बढ़ने के लिए उन्हें कुछ ड्रग तो नहीं दिया गया है. इसके लिए ज़िला मजिस्ट्रेट की निगरानी में सरकारी डॉक्टर्स जाँच करते हैं. इस खेल में भाग लेने वाले प्रतियोगियों की भी इसी तरह जांच होती है.

 

loading...
(Visited 42 times, 1 visits today)

Rajdeep Raghuwanshi

नमस्ते , मैं एक प्रोफेशनल ब्लॉगर हूँ और मुझे एंटरटेनमेंट, लाइफस्टाइल और ह्यूमर पर लिखना पसंद है !

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Skip to toolbar