जब क्रिकेट के मैदान पर घटीं ये कुछ मजेदार घटनाएँ…..

क्रिकेट मज़े और रोमांच से भरा खेल है. इसमें कोई भी घटना कभी भी घटित हो सकती है. इन घटनाओ के अलावा स्लेजिंग जैसे हथकंडो का प्रयोग भी किया जाता है.

स्लेजिंग करने का मुख्य कारण वैसे तो सामने वाले खिलाड़ी का मनोबल गिराना होता है. पर कभी-कभी स्लेजिंग करना गेंदबाजो के लिए भारी भी पड़ जाता है,

क्रिकेट में ऐसे ही कुछ स्लेजिंग के किस्से यहाँ मौजूद हैं….

बॉल ढूंड लाओ

एक काउंटी मैच में ग्लेमरगन के तेज़ गेंदबाज़ ग्रेग टॉम्स ने यही हिमाकत विवियन रिचर्ड्स के साथ की थी. उन्होंने रिचर्ड्स को दो गेंदे फेंकी जिन्हें वो मिस कर गए. टॉम्स ने रिचर्ड्स को छेड़ा, ‘शायद आपको पता न हो. ये लाल रंग की है. गोल है और इसका वज़न पांच आउंस है.’

अगली ही गेद पर रिचर्ड्स ने इतना लंबा छक्का लगाया कि गेंद एक नदी में जा गिरी. अब बोलने की बारी विवियन की थी, ‘तुम्हें तो गेंद का रंग, स्वरूप और वज़न सब पता है. जाओ उसे ढूढ कर लाओ.’

इज़ ही आउट
Image result for भागवत चंद्रशेखर
1976 में न्यूज़ीलैंड दौरे के दौरान न्यूज़ीलैंड के अंपायर मेज़बान टीम के पक्ष में लगातार फ़ैसले दे रहे थे. ऑकलैंड टेस्ट में जब भागवत चंद्रशेखर ने न्यूज़ीलैंड के विकेटकीपर केन वड्सवर्थ को बोल्ड किया तो वो अपील करने के लिए पीछे मुड़ने लगे. अंपायर के मुंह से निकला, ‘ही इज़ बोल्ड.‘ चंद्रशेखर ने अपनी कमर पर हाथ रख कर क्लासिक सवाल पूछा, ‘आई नो ही इज़ बोल्ड बट इज़ ही आउट?’
सिर तोड़ दूंगा

Image result for रवि शास्त्री

भारत के रवि शास्त्री और ऑस्ट्रेलिया के माइक विटनी के बीच भी एक मज़ेदार नोकझोंक हुई थी. उस मैच में विटनी 12 वें खिलाड़ी थे. जब शास्त्री ने एक रन लेने की कोशिश की तो विटनी ने गेंद विकेटकीपर को फेंकते हुए कहा, ‘क्रीज़ में ही रहो वर्ना मैं तुम्हारा सिर तोड़ दूँगा.’

रवि शास्त्री ने बिना एक सेकेंड जाया करते हुए जवाब दिया, ‘अगर तुम उतनी अच्छी गेंदबाज़ी कर पाते जितना अच्छा तुम बोलते हो तो तुम अपनी टीम के 12वें खिलाड़ी नहीं होते.’

***** ये भी पढ़ें ****

डीन अम्ब्रोज और जॉन सीना से भी तगड़ा है , खली का शागिर्द

क्रिकेट की कुछ ऐसी घटनाये जिन्हें देखकर आप कहेंगे, ओह्ह् तेरी ये कब हुआ?

*********

रनर नहीं मिलता :
क्रिकेट

ऑस्ट्रेलिया और श्रीलंका के बीच हो रहे एकदिवसीय मैच में जब अर्जुना रानातुंगे ने कहा कि उन्हें रनर की ज़रूरत है तो स्टंप माइक्रोफ़ोन में विकेटकीपर इयान हीली को कहते सुना गया, ‘ज़रूरत से ज़्यादा वज़न वाले थुलथुल व्यक्ति को रनर नहीं मिला करते.’

चॉकलेट रखो :
क्रिकेट

अर्जुन रानातुंगा से ही जुड़ा एक किस्सा और भी है कि जब ऑस्ट्रेलियाई टीम उन्हें आउट नहीं कर पाइ तो शेन वॉर्न ने योजना बनाई कि उन्हें क्रीज़ के बाहर खींचा जाए और उन्हें स्टंप करने की कोशिश की जाए.

जब ये कोशिश भी नाकामयाब हो गई तो विकेटकीपर हीली ने चिल्ला कर कहा, ‘गुड लेंथ स्पॉट पर मार्स चॉकलेट रखो, तभी ये आगे आएगा.’

loading...
(Visited 110 times, 1 visits today)

Related posts:

दांव पर लगेगा धोनी का फ्यूचर, क्या खेल पाएंगे 2019 का विश्व कप ....
आर.अश्विन ने धोनी की तुलना इस शख्स से कर डाली, जाने
जानें कौन है, कैटरीना का फेवरिट क्रिकेटर.....
चैंपियंस ट्रॉफी 2017 का ये है पूरा शेड्यूल, जानें
टेस्ट क्रिकेट के इतिहास में ग्यारहवें नंबर पर बल्लेबाजी करने वाले बल्लेबाजों के बड़े स्कोर
अब आईपीएल सोनी नहीं स्टार दिखायेगा
सचिन ने दिया नज़फगढ़ के सुल्तान को BMW का तोहफ़ा
हार्दिक पांड्या और इस लड़की के रिश्ते का खुला राज

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Skip to toolbar