कुछ पत्रकारों ने देखी पद्मावती, अर्नब ने बताया बड़ी श्रद्धांजलि

विवादों के बीच फंसी फिल्म पद्मावती का पुरजोर विरोध प्रदर्शन जारी है. वहीँ कई राजपूत संगठनों द्वारा चित्तोडगढ के प्रवेश द्वार को बंद कर देने जैसी घटनाये भी सामने आई हैं. विरोध कर रहे लोगों ने फिल्म कि स्टारकास्ट को क्षति पहुँचाने जैसी धमकियाँ भी दी है. ऐसे में विरोध के बीच फिल्म पद्मावती कि पत्रकारों के लिए स्पेशल स्क्रीनिंग रखी गयी थी.

 

यह भी पढ़ें: 

इस स्पेशल स्क्रीनिंग देखने के बाद अर्नब और रजत शर्मा जैसे पत्रकारों ने इस फिल्म का समर्थन किया हैं. वहीँ अर्नब ने अपने प्राइम टाइम में इस फिल्म को राजपूतों के लिए एक बड़ी श्रद्धांजलि बताया है. और कहा है कि फिल्म में कहीं भी कोई ऐसा सीन नहीं बताया है जिससे राजपूतों कि शान को कोई प्रभाव पड़े.

वहीँ रजत शर्मा ने भी अपने प्राइम टाइम में कहा कि वह भी राजस्थान से हैं और उन्होंने भी रानी पद्मिनी की कहानियाँ सुनी हैं. लेकिन फिल्म को देखकर उन्हें कही भी नहीं लगा कि फिल्म में राजपूत वीरांगनाओं के मान सम्मान से कही कोई छेड़-छाड़ नहीं कि गयी है. जो-जो इलज़ाम फिल्म पर और संजय लीला भंसाली पर लगायें गये हैं वो फिल्म देखने के बाद झूठे साबित हो जायेंगे.

इस तरह से देखा जाए तो फिल्म को बिना देखें उसका विरोध करना सही नहीं है. पत्रकारों के इस समर्थन के बाद फिल्म निर्माताओं को और फिल्म कि रिलीज़ चाहने वालों के लिए एक अच्छी खबर है. अब देखना यह है कि 1 तारीख को फिल्म को रिलीज़ के लिए कितना समर्थन मिलता है.

loading...
Skip to toolbar