ऐसे बाबा जिन्होंने लोगों की आस्था का किया बलात्कार

भारत में ऐसे कई बाबा हैं जिन्होंने लोगो के धर्म और आस्था के साथ खिलवाड़ किया हैं.  आज हम आपको ऐसे ही कुछ बाबाओं के बारे में बताने वाले है जिन्होंने लोगों की आस्था का किया बलात्कार और जिनके सिर पर सिर्फ यौन शोषण का ही आरोप नहीं है बल्क़ि उनके आश्रम द्वारा चलाए जाने वाले स्कूल – गुरुकूल में हुई बच्चों की रहस्यमयी हत्याओं के आरोप भी हैं.

गुरमीत राम रहीम :

बाबा गुरमीत राम रहीम कुछ दिन पहले ही अपने सिरसा डेरे में साध्वियों के रेप करने के इल्ज़ाम में सीबीआई अदालत ने दोषी मान लिया है. डेरा सच्चा सौदा पर इसके आलावा आरोप लगा कि इस केस को दबाने के लिए एक शिकायतकर्ता साध्वी के भाई की हत्या करवा दी और इस केस की रिपोर्टिंग कर रहे एक पत्रकार की भी हत्या हो गई. इस मामले में मुख्य आरोपी राम रहीम ही हैं. मामले की सुनवाई 17 अगस्त 2017 तक चली. 25 अगस्त 2017 को इस मामले में पंचकुला की विशेष सीबीआई अदालत ने राम रहीम को दोषी मान लिया. अदालत 28 अगस्त 2017 को सज़ा का ऐलान होगा.

बाबा परमानंद :

बाराबंकी जिले के देवां कोतवाली क्षेत्र स्थित हर्रई धाम के बाबा परमानंद नाम से प्रसिद्ध बाबा रामशंकर तिवारी पर आरोप है कि वो बच्चे पैदा करने के नाम पर महिलाओं से रेप करता था. पुलिस ने उसे 24 मई 2016 को गिरफ्तार कर लिया था. बाबा परमानंद पर 12 मुकदमे दर्ज हैं जिनकी सजा वो अब भी जेल में काट रहा है. जिन्होंने लोगों की आस्था का किया बलात्कार

संत रामपाल :

रेप, यौन शोषण जैसे कई आरोपों को लेकर संत रामपाल की गिरफ्तारी 20 नवंबर 2014 को हुई. खबरों के अनुसार रामपाल लड़कियों को अपने एक किले में बंधक बनाकर रखता था, जिन्हें वो साधिकाएं बुलाता था. इनमें से कुछ को वो अपने कमरे में बुलाता और शारीरिक संबंध बनाता था.  बबिता कुमारी रामपाल की सबसे खास साधिका थीं, जिसकी उम्र लगभग 27 साल थी. पुलिस के अनुसार ‘रामपाल के कमरे से प्रेग्नेंसी किट और सेक्स पावर बढ़ाने वाली दवाइयां भी मिली थीं’. जिन्होंने लोगों की आस्था का किया बलात्कार

आसाराम बापू :

एक नाबालिग लड़की से बलात्कार के आरोप में आसाराम को 1 सितंबर 2013 को जोधपुर में बंद किया हैं. आसाराम के अलावा उसका बेटा नारायण साईं भी महिला श्रद्धालुओं के उत्पीड़न के आरोप में जेल में बंद है. हाई कोर्ट और सुप्रीम कोर्ट से आसाराम और नारायण की जमानत खारिज कर दी है. इस मामले से जुड़े लोगों में से तीन की और सात पर जानलेवा हमला हो चुका है.

नित्यानंद :

बंगलुरु के बिदारी में स्थित अधीनम मठ के 293वें प्रधान नित्यानंद को जून 2012 में रेप और यौन शोषण के आरोप में गिरफ्तार किए थे. नित्यानंद की एक शिष्या ने उनका पूरा काला चिट्ठा खोला था, शिष्या के अनुसार उसके साथ नित्यानंद ने कई बार रेप किया. किसी को बताने पर जान से मारने की धमकी भी दी. उसका दावा था कि नित्यानंद के तमिल हिरोइन के साथ जो सेक्स टेप सामने आए थे, वो शूट उसी ने किए थे.

संत स्वामी भीमानंद जी महाराज :

फरवरी 2010 में दो एयरहोस्टेस समेत आठ लोगों को सेक्स रैकेट चलाने के मामले में गिरफ्तार किया गया तो मामले का खुलासा हुआ. तो इन लोगों से पूछताछ हुई तब पता चला कि इस पूरे गिरोह का मास्टरमाइंड 39 साल का शिवमूरत द्विवेदी है. जिसे दुनिया इच्छाधारी संत स्वामी भीमानंद जी महाराज चित्रकूट वाले के नाम से जानती है. भीमानंद 2010 से ही जेल में सजा काट रहे है.

loading...

Brajendra Sharma

नमस्ते, मैं एक हिन्दी ब्लॉगर हूँ और मुझे देशी-विदेशी, करियर, से जुड़ी स्टोरीज लिखना अच्छा लगता हैं एवं मुझे ऐसी स्टोरीज लिखना भी पसंद है जो आपको अच्छी लगें. इसलिए आप मुझें comment करके बता सकते हैं.

Skip to toolbar