ओह्ह तेरी! इस स्कूल में टीचर बच्‍चों के पैर छूकर लेते हैं आर्शीवाद

हमारे हिंदू धर्म में पैर छूने को सम्‍मान देने का प्रतीक माना जाता है. आज तक आपने ऐसा सुना होगा कि बच्चें शिक्षकों के पैर छूते हैं लेकिन मुंबई में एक ऐसा स्‍कूल है जहां ठीक इसके विपरीत होता है. आज हम आपको उस स्कूल के बारे में बताने वाले हैं जहाँ टीचर बच्‍चों के पैर छूकर लेते हैं आर्शीवाद.

image source : indiavoice.com

दरअसल मुंबई में एक ऐसा स्‍कूल है जहां शिक्षक अपने छात्रों के पैर छूते हैं. हर सुबह एक परंपरा के चलते मुंबई में स्थित ऋषिकुल गुरुकुल विद्यालय में आपको ऐसा दिखाई देगा. यहाँ के शिक्षकों का मानना हैं कि हमारे देश में बच्‍चों को भगवान का रूप माना जाता है, इसलिए उनके पैर छूना भगवान के समक्ष झुकने के समान माना जाता है.

image source : financialexpress.com

शिक्षक पैर छूने के बाद बच्‍चों से आर्शीवाद मांगते हैं. उनका मानना है कि ऐसा करने से अन्‍य छात्रों को भी प्रेरणा मिलेगी कि हम उम्रों का सम्‍मान करना चाहिए. यह स्‍कूल घाटकोपर में संचालित होता है, यह स्कूल महाराष्‍ट्र राज्‍य सेकंडरी बोर्ड से जुड़ा हुआ है. यह अभी किराये के भवन में ही चलता है.

loading...
(Visited 94 times, 1 visits today)

Related posts:

जहाँ कचड़ा है सबके लिए आफ़त, वहीं इस देश में है कीमती ....
सब्जियों के ये अजीबोंगरीब आकर देखकर दंग रह जायेंगे आप ...
ओह्ह तेरी ! महज़ 8 माह की है ये बच्ची, पर वजन जानकर उड़ जाएंगें आपके होश
दुर्घटना में खो दिया था हाथ, आज कृतिम हाथ से मोबाइल फ़ोन कर देते हैं चार्ज
ये प्रिंस जुए में हार बैठा 22 अरब रूपये और अपनी 5 बीवियों , जाने इस खबर का सच
कार्टून नहीं दानव है ये रहस्यमय प्राणी, पूरे जापान में मचा रखा था खौफ......
इस लड़की की टांगे दुनिया में सबसे लंबी
'फ्रीडा' मैक्सिको भूकंप के बाद लोगों के लिए मसीहा

Brajendra Sharma

नमस्ते, मैं एक हिन्दी ब्लॉगर हूँ और मुझे देशी-विदेशी, करियर, से जुड़ी स्टोरीज लिखना अच्छा लगता हैं एवं मुझे ऐसी स्टोरीज लिखना भी पसंद है जो आपको अच्छी लगें. इसलिए आप मुझें comment करके बता सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Skip to toolbar