ब्रह्मोस का पहला परिक्षण हुआ सफल

दुनिया की सबसे तेज़ सुपरसोनिक मिसाइल ब्रह्मोस का परिक्षण सफल रहा. इस बात की जानकारी रक्षा मंत्रालय ने स्वयं दी. भारतीय वायुसेना के लड़ाकू विमान सुखोई-30-एमकेआई से इसका परिक्षण किया  गया. बंगाल की  कड़ी में इसका टारगेट सेट किया गया  था.

brahmos
source: twitter

एक बयान में बताया गया कि मिसाइल को सुखोई-30-एमकेआई या एसयू-30 विमान के फ्यूज़लेज से गिराया गया. दो चरणों में काम करने वाला मिसाइल का इंजन चालू हुआ और वह बंगाल की खाड़ी में स्थित अपने टारगेट की तरफ बढ़ गई. इस परिक्षण को लेकर मंत्रालय ने कहा है कि इससे भारतीय वायुसेना की हवाई युद्ध की ऑपरेशनल क्षमता बढ़ जाएगी.

यह भी पढ़ें: 

इस मिसाइल का वजन ढाई टन है. इसे हथियारों को ले जाने के लिए मोडिफाइड एसयू-30 पर ले जाया गया. ब्रह्मोस को ज़मीन, समुद्र तथा हवा से चलाया जा सकता है, और इसी के साथ भारत के पास क्रूज़ मिसाइल ट्रायड (cruise missile triad) पूरा हो गया है.

loading...
Skip to toolbar