एक खौफ़नाक युद्ध पर बना दिया पूरा म्यूज़ियम, जाने ….

आपने अब तक ऐसे म्यूज़ियम के बारे मे जाना होगा,जो सिर्फ एन्जॉय या शैक्षिक जिज्ञासा वाले है,पर क्या आपने कभी ऐसे म्यूज़ियम के बारे में जानाहैं, जो किसी युद्ध से सम्बंधित हो और उस युद्ध मे आम लोग,बच्चे,महिलाएं बेमौत मारे गए हो.

हम आपको एक ऐसे ही म्यूज़ियम के बारे में बता रहे हैं जिसमें घुसते ही डर लगता हैं,सरायेवो शहर की एक ऐसी इमारत जिसमें बाल्कन देश बोस्निया हर्जेगोविना 1992 से 1995 के बीच तीन साल चले गृहयुद्ध की  लगभग 4000 चीजें हैं.

म्यूज़ियम
image source : bosnia.com

कहने को ये चीजें बहुत सामान्य सी लगती हैं,जैसे कि एक बच्ची की बनाई ड्रॉइंग्स, बैले स्लिपर्स, टिन वाले खाने के डिब्बे. लेकिन बोस्निया के लोगों के लिए ये चीजें जख्म हैं, इस म्यूज़ियम को देखकर जख्म हरे हो जाते है ,इन चीजों से बच्चों को बोस्निया के युद्ध को दिखाने की कोशिश की गई है.एवं इस म्यूजियम का मकसद, उस सदमे को सामने ला पाना जिसे बच्चों ने सहा है. जैसे कि म्यूजियम में एक अधूरा खत है.जिसे 20 साल से एक महिला संभाले हुए है. महिला की मां ने यह खत लिखना शुरू किया था कि तभी उनके घर पर बम गिरा और मां खत्म हो गई.

बाल्कन देश बोस्निया हर्जेगोविना के बीच तीन साल तक चले इस गृहयुद्ध के दौरान बोस्निया में लगभग 3400 बच्चे मारे गए थे, यह शहर 44 महीने तक सर्बिया समर्थित बोस्नियाई सर्ब फौजों के घेरे में बंद रहा था. सर्ब विद्रोही चारों तरफ पहाड़ियों पर बंदूक लेकर बैठे थे और शहर में आने जाने के सभी रास्ते बंद थे. और निशानेबाज चुन चुनकर लोगों को मार रहे थे.

म्यूज़ियम
image source : staticflickr.com

उस युद्ध के निशान आज भी सरायेवो में घाव की तरह मौजूद हैं. इमारतों पर गोलियों से बने छेद हैं. गोलाबारी में ध्वस्त हुई कई इमारते जैसे की तैसी हैं, और सिटी सेंटर पर कई इमारतों पर उन सैकड़ों बच्चों के नाम लिखे हैं जो युद्ध में मारे गए थे. इन्हीं में 17 साल की ऐडा भी थी. वह अपने घर के सामने खड़ी थी जब एक तोप का गोला उसके पास आकर फटा था. ऐडा को डिज्नी के किरदारों की तस्वीरें बनाना बहुत अच्छा लगता था. उसने मिकी माउस की एक तस्वीर बनाई थी जिसकी आंख से टपक कर आंसू गाल पर आ गया था. ऐडा की बहन सेलमा ने उसकी बनाई पेंटिंग्स म्यूजियम को दे दी हैं.

चाइल्ड वॉर म्यूजियम में ऐसी लगभग 4000 चीजें रखी है जिनके बारे में कागज पर लिखकर बताया गया है कि वह युद्ध से कैसे जुड़ी है.

loading...
(Visited 26 times, 1 visits today)

Brajendra Sharma

नमस्ते, मैं एक हिन्दी ब्लॉगर हूँ और मुझे देशी-विदेशी, करियर, से जुड़ी स्टोरीज लिखना अच्छा लगता हैं एवं मुझे ऐसी स्टोरीज लिखना भी पसंद है जो आपको अच्छी लगें. इसलिए आप मुझें comment करके बता सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Skip to toolbar