siteswebdirectory.comओह्ह तेरी, धरती पर भी है सूर्य, जानें कहाँ है टोकमाक.- Fadoo Post

ओह्ह तेरी, धरती पर भी है सूर्य, जानें कहाँ…..

विज्ञान लगातार जीवन को बदल रहा है और अचंभित भी कर रहा है अब वैज्ञानिकों ने पृथ्वी पर भी सूर्य बना लिया है मतलब अब ऊर्जा की टेंशन खत्म, यूके के सबसे नए संलयन रिएक्टर टोकमाक ‘एसटी 40’ को पहली बार चालू कर दिया गया है और आधिकारिक तौर पर पहले प्लाज्मा को हासिल किया गया है. रिएक्टर का लक्ष्य निजी तौर पर वित्त पोषित उपक्रम के लिए 100 मिलियन डिग्री के रिकार्ड तोड़ने वाले प्लाज्मा तापमान का उत्पादन करना है. यह सूर्य के केंद्र की तुलना में सात गुना अधिक है और नियंत्रित संलयन के लिए आवश्यक तापमान है. टोकमाक रिएक्टर, ‘एसटी 40’ को टोकमक एनर्जी नामक संस्था द्वारा बनाया गया था.

टोकमाक

क्या है टोकमक एनर्जी 

टोकमाक
Image Source : ars.els-cdn.com

ये भी पढ़ें : पलभर में ही आखों ओझल से हो जाता है ये प्लेन

टोकमक एनर्जी एक निजी कंपनी है जो कॉम्पैक्ट फ्यूजन पावर का विकास करने में काम कर रही है. यह फर्म विश्व भर में प्रसिद्ध चुंबक इंजीनियरों और संलयन विशेषज्ञों की एक टीम है, और एक भौतिकी अनुसंधान पृष्ठभूमि के साथ एक अनुभवी सीईओ द्वारा और उच्च तकनीक के लिए तीस वर्षों से कार्यरत है. टोकमक एनर्जी का उद्देश्य फ्यूजन पावर को 2030 तक ग्रिड में डालना है. टोकमाक एनर्जी की संलयन ऊर्जा पैदा करने की यात्रा तेजी से बढ़ रही है; कंपनी पहले से ही संलयन शक्ति देने के लिए अपनी योजना के आधे रास्ते के बिंदु तक पहुंच चुकी है.

उद्देश्य क्या है 

टोकमाक
Image Source : metrouk2.files.wordpress.com

ये भी पढ़ें : चाइना में होती है ब्रा स्टडी, डिग्री भी मिलती है

इस योजना के तहत S40 नामक फ्यूज़न रिएक्टर को शुरू कर 10 करोड़ डिग्री सेल्सियस तक तापमान उत्पन्न करना है जिसे बिजली और ऊर्जा से संबंधित परेशानियों को दूर किया जा सके. इसके द्वारा 2025 तक पहला बिजली उत्पादन और 2030 तक वाणिज्यिक रूप से व्यवहार्य संलयन शक्ति का उत्पादन किया जायेगा.

टोकमाक
Image Source : i.ytimg.com

ये भी पढ़ें : सेल्फी लेने छत पर चढ़ी लड़की , पर क्लिक करते ही हो गयी मौत

टोकामाक एनर्जी के सीईओ डॉ डेविड किंगहम कहते है कि “भविष्य को देखते हुए ब्रिटेन सहित पूरी दुनिया में संलयन ऊर्जा का विकास आवश्यक है. हम पहले विश्व स्तरीय नियंत्रित संलयन उपकरण का अनावरण कर रहे हैं, जिसे एक निजी उद्यम द्वारा डिजाइन, निर्मित और संचालित किया जायेगा. ST40 एक मशीन है जो फ्यूजन तापमान दिखाएगा. इस साल में फ्यूजन पावर को हासिल नहीं किया जा सकता है. हमें अभी भी महत्वपूर्ण निवेश, कई अकादमिक और औद्योगिक सहयोग, समर्पित और रचनात्मक इंजीनियरों और वैज्ञानिकों और एक उत्कृष्ट आपूर्ति श्रृंखला की आवश्यकता होगी.”

loading...
(Visited 103 times, 1 visits today)

Related posts:

मछली देगी आँख , दूर हो सकेगा लोगों का अंधापन : शोध
ओह तेरी ,एस्टेरोइड से लटकी होगी दुनिया की सबसे ऊंची इमारत....
16 साल की इस भारतीय बेटी के नाम पर रखा ग्रह का नाम , पढ़ें
ये 5 फीचर्स जो वॉट्सऐप में नहीं बल्क़ि इन ऐप्स में है मौजूद
दुश्मन देश मिलकर करेंगे विज्ञान के लिए शोध.....
इन स्मार्टफ़ोन की कीमतों में हुई 3000 रूपये से लेकर 25000 तक की गिरावट
23 सितंबर को खत्म होगी हमारी दुनिया, जानें वायरल सच
एयरटेल भी दे रहा 1399 रुपये का 4G स्मार्टफोन

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Skip to toolbar