siteswebdirectory.comनींद से जुड़ी ये 8 रहस्यमयी बातें आपको जरुर जानना चाहिए - Fadoo Post

नींद से जुड़ी ये 8 रहस्यमयी बातें आपको जरुर जानना चाहिए

नींद जो आपको मानसिक और शारीरिक थकावट से निजात दिलाती है. वैज्ञानिकों के अनुसार मनुष्य को अपने स्वस्थ शरीर के लिए 6 से 8 घंटें तक की नींद लेना ज़रूरी माना गया है . आप जब नींद में होते हैं तब आपके मस्तिष्क के साथ क्या-क्या होता है, यह बात विज्ञान के लिए अब भी कई स्तर पर रहस्य है. लेकिन हम आपको बता रहे हैं ऐसी 8तें जिनका कारण विज्ञान जानता है और आपने भी उनको जरूर महसूस किया होगा.

स्लीप पैरेलिसिस

कई बार नींद में लगा होगा कि आप जाग रहे हैं, लेकिन हिल नहीं पा रहे हैं. ऐसी स्थिति में डरावनी चीजों का भी अहसास होता है. यह स्लीप पैरेलिसिस होता है. जब आप सो रहे होते हैं तो मस्तिष्क आपके शरीर की मांसपेशियों को आराम करने के निर्देश देता है और यह लगभग पैरेलिसिस की स्थिति होती है. लेकिन जब यह स्थिति ठीक से नहीं बन पाती है तो कई बार आप नींद से जाग जाते हैं और डर का अहसास होता है.

शरीर से बाहर होने का अनुभव

एक ऐसा अनुभव जिसमें व्यक्ति को लगता है कि वह अपने शरीर से बाहर है और फिर भी अपने शरीर को बिस्तर पर लेटा हुआ देख सकता है. अभी तक इस तरह के अनुभवों का कोई वैज्ञानिक कारण नहीं मालूम पड़ पाया है. हालांकि, बहुत से लोग इसे आत्मा के होने के प्रमाण के तौर पर देखते हैं. कई लोग इस अनुभव के बारे में और जानने के लिए इस स्थिति में होने का अभ्यास करते हैं.

सपने में सपना देखना

ऐसा हो सकता है कि सपना देखते हुए आपको लगे कि आप जाग गए हैं. हालांकि, सपना जारी रहता है. ऐसा इसलिए होता है क्योंकि असल में आप नींद से जागते नहीं हैं. इसी थीम पर ‘इन्सेप्शन’ फिल्म भी बनायी गयी थी. इस स्थिति का कारण अब तक आध्यात्म का झुकाव बताया जा रहा है. हालांकि, वैज्ञानिक अब भी इस विषय में खोज कर रहे हैं.

नींद में सेक्स

इस स्थिति में कई बार सेक्स के बीच में नींद खुलती है और ध्यान आता है कि व्यक्ति सेक्स कर रहा था. यहे सेक्सोम्निया कहलाता है. दरअसल शरीर नींद से बाहर आ जाता है लेकिन दिमाग नींद से पूरी तरह बाहर नहीं होता. इस प्रक्रिया में नींद में होने के बावजूद व्यक्ति अपने पार्टनर के साथ सेक्स करना शुरू कर देता है.

डरावने ख्याल

कई बार ठीक सोने जाने के वक्त पर आपको ऐसा लगा होगा कि आपके आसपास कोई डरावनी चीज है. यह खासकर बच्चों में होता है. विशेषज्ञ कहते हैं कि जब आप सोना नहीं चाहते तब खासकर ऐसा होता है. इस अनिच्छा से कई बार डरावने ख्याल आते हैं और कई बार आप कोई अच्छी कल्पना गढ़ते हैं.

एक से सपने

सपनों की यह सबसे दिलचस्प दुनिया है, जहां कई बार ये महसूस होता है कि आप एक से सपना बार बार देख रहे हैं. दरअसल हमारा दिमाग बहुत सी घटनाओं से उबरने की कोशिश करता है. खासकर बुरी घटनाओं से. इस प्रक्रिया में उसी तरह की अहसासों वाली घटनाएं या मिलती जुलती चीजें आप सपनों में देखते हैं. आम दिन की चीजें आपको बार बार नहीं दिखतीं क्योंकि दिमाग उनको भूल चुका होता है और उससे उबरने की कोशिश नहीं कर रहा होता है.

नींद में चलना

नींद में चलना काफी खतरनाक हो सकता है. क्योंकि नींद में चलने के दौरान कई बार लोग खुद को काफी नुकसान पहुंचा लेते हैं. सबसे खतरनाक बात ये है कि नींद से जागने के बाद व्यक्ति को कुछ भी याद नहीं रहता है. व्यक्ति नींद में इसलिए चलने लगता है क्योंकि नींद के दौरान उसका शरीर तो जाग जाता है लेकिन मस्तिष्क नींद में ही होता है. अभी तक नींद में चलने के ठीक ठीक कारण पता नहीं चल पाये हैं.

सपनों में जवाब मिलना

कई बार, हम जीवन के कई सवालों के जवाब खोज रहे होते हैं और उनके जवाब हमें सपने में मिलता है. मशहूर दिमित्री मेंडेलीव ने पीरियॉडिक टेबल अपने सपने में ही बनाया था. यह इसलिए होता है क्योंकि कई बार हमारा अवचेतन मन कई सवालों के जवाब जानता है लेकिन उन्हें चेतन मन तक पहुंचने में वक्त लगता है.

 

loading...
(Visited 20 times, 1 visits today)

Related posts:

रातों रात गायब हो गया था शहर, पर अब हजारों साल बाद मिला
ओह्ह ! तेरी : कुत्ते को भौंकने से रोका तो मिली 5 साल जेल की सजा
दुनिया की सबसे अजीबोगरीब महिलायें, जो अपनी किसी ख़ासियत के लिए जानी जाती हैं
ये है 10 लाख का टीपू गधा , ख़ासियत जानकर दंग रह जाओगे
forest city बना रहा है चीन, प्रदुषण के खिलाफ जंग कि, की शुरुआत
सुनील ग्रोवर की फीस हुई दोगुनी और कपिल शर्मा की आधी
नवरात्र में इस उम्र की कन्या में होता हैं माँ का ये रूप
वे लोग जिन्होंने दान कर दी करोड़ों की सम्पति , बच्चों के नाम नहीं किया वसीयतनामा

Rajdeep Raghuwanshi

नमस्ते , मैं एक प्रोफेशनल ब्लॉगर हूँ और मुझे एंटरटेनमेंट, लाइफस्टाइल और ह्यूमर पर लिखना पसंद है !

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Skip to toolbar