उर्फ़ ये महिलाएँ भी न ………..

उर्फ़ ये महिलाएँ भी न ………..

दो महिलाएँ.. एक फंक्शन में गईं ।

वहाँ पहली महिला जिस भी जगह बैठने लगती तो.. दूसरी महिला उसकी बैठने की जगह.. अपने दुपट्टे से साफ कर देती।
तकरीबन पाँच-दस बार ऐसा हुआ !
तब किसी ने.. दूसरी महिला से पूछा कि, “तू खुद की.. बजाय, इस औरत की जगह.. क्यों साफ कर रही है?”
तो वो.. महिला बोली, “क्या करूँ बहिन,
.
.
.
.
ये मेरी.. जेठानी है ! और ये… आज मेरा सूट पहिन कर.. आ गई है।

😜😀😂😂😂😝

उर्फ़ ये महिलाएँ भी न ………..

———————————————

अगर पत्नी को हिंदी में कहो कि
तुम हत्यारिन लग रही हो .
तो दो दिनों तक खाना नहीं मिलेगा😒
लेकिन अगर आपने उर्दू में कहा कि
कातिल लग रही हो
तो शाम की चाय भी पकोड़ों के साथ मिलेगी
😛😝!!!
और अगर आपने इंग्लिश मैं बोल दिया Baby you are looking killer तब तो डिनर आपकी ही पसंद का बनेगा😜😜

उर्फ़ ये महिलाएँ भी न ………..

———————————————

पत्नी (पति से)- शर्म नही आती, दूसरी औरत को घूर-घूर कर देख रहे हो.अब तुम शादीशुदा हो…
.
.
.

पति- ऐसा कहां लिखा है कि उपवास हो तो खाने का मेन्यू भी नही देख सकते…!!
😜😜😜😜😂😂😂😂😁😁😁

loading...

Brajendra Sharma

नमस्ते, मैं एक हिन्दी ब्लॉगर हूँ और मुझे देशी-विदेशी, करियर, से जुड़ी स्टोरीज लिखना अच्छा लगता हैं एवं मुझे ऐसी स्टोरीज लिखना भी पसंद है जो आपको अच्छी लगें. इसलिए आप मुझें comment करके बता सकते हैं.

Skip to toolbar