siteswebdirectory.comखुला दुनिया का सबसे ऊँचा पूल, जाने कितनी होगी इसकी ऊँचाई - फाडू पोस्ट

खुला दुनिया का सबसे ऊँचा पूल, जाने कितनी होगी इसकी ऊँचाई

चीन में बने और ज़मीन से ऊँचाई के लिहाज़ से दुनिया के सबसे ऊंचे पुल  बेइपानजियांग को  यातायात के लिए आम लोगों के लिए खोल दिया गया है.  बेइपानजियांग पुल (Beipanjiang Bridge) देश के पहाड़ी दक्षिण-पश्चिमी हिस्से के दो प्रांतों को आपस में जोड़ता है, और इस पुल के ज़रिये उनके बीच यात्रा का समय लगभग एक-चौथाई रह गया है.

चीन में एक नदी के ऊपर बनाए गए बेइपानजियांग पुल की ऊंचाई लगभग  565 मीटर (1,854 फुट) है, और यह पहाड़ी प्रांतों यून्नान और गीझू को जोड़ता है.

******** ये भी पढ़ें********

गज़ब था इन 10 का #luck, और फिर बदल गयी पूरी ज़िन्दगी

ओह्ह! तेरी, कुत्ते को किडनैप कर ,दी पेड़ पर लटकाने की धमकी….

मेक्सिको में मिली माया युग की गुप्त नदी, हैरान कर देगी तस्वीरें

*************************

गुरुवार को  बेइपानजियांग पुल को यातायात के लिए खोल दिए  दिया गया है. यून्नान के शुआनवेई और गीझू के शुईचेंग के बीच यात्रा करने में अब तक चार घंटे से भी ज़्यादा समय लगता था, जो अब इस पुल के बाद लगभग एक घंटा रह गया है.

स्थानीय समाचारपत्र ‘गीझू डेली’ के अनुसार, 1,341 मीटर लंबाई वाले इस पुल की लागत एक अरब युआन (14 करोड़ 40 लाख अमेरिकी डॉलर) से भी ज़्यादा रही है.

बेइपानजियांग पुल  से पहले भी चीन के हूबेई प्रांत में बना सी डू रिवर ब्रिज दुनिया का सबसे ऊँचा पुल हुआ करता था, लेकिन अब बेइपानजियांग पुल दुनिया में सबसे ऊँचा पुल हो गया है.

सी डू रिवर ब्रिज

1,341 मीटर लंबे बेइपानजियांग पुल की लागत एक अरब युआन (14 करोड़ 40 लाख अमेरिकी डॉलर) से भी ज़्यादा रही

दुनिया के सबसे ऊंचे पुलों में कई चीन में ही बने हुए हैं, हालांकि अपने ढांचे की ऊंचाई के लिहाज़ से (ज़मीन से ऊंचाई के लिहाज़ से नहीं) दुनिया का सबसे ऊंचा पुल फ्रांस का मिल्लाऊ वायाडक्ट है, जिसके ढांचे की कुल ऊंचाई 343 मीटर है.

गौरतलब है कि ऊंचे पुलों के अलावा चीन में अनूठे पुल भी कई हैं, जिनमें से एक वह कांच का पुल है, जिसका नाम ‘द हाओहान कियाओ’ (The Haohan Qiao) या ‘बहादुर मर्दों का पुल’ रखा गया है. यह पुल चीन के हुनान प्रांत में एक ऐसी खाई पर बनाया गया है, जिसकी 180 मीटर की गहराई वैसे ही दिल दहला देती है, लेकिन इस पुल को पार करने के लिए ‘दिलेर’ होना इसकी ऊंचाई की वजह से ज़रूरी नहीं है, बल्कि इसकी एक और विशेषता की वजह से ज़रूरी है… दरअसल, इस पुल का फर्श, जो 300 मीटर लम्बा है, पूरी तरह कांच का बना हुआ है…

source : ndtv

loading...
(Visited 116 times, 1 visits today)

Rajdeep Raghuwanshi

नमस्ते , मैं एक प्रोफेशनल ब्लॉगर हूँ और मुझे एंटरटेनमेंट, लाइफस्टाइल और ह्यूमर पर लिखना पसंद है !

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Skip to toolbar